यूक्रेन संकट: ऑस्ट्रेलिया ने रूसी अधिकारियों पर लगाए प्रतिबंध

  • यूक्रेन संकट: ऑस्ट्रेलिया ने रूसी अधिकारियों पर लगाए प्रतिबंध
You Are HereInternational
Wednesday, March 19, 2014-5:28 PM

मेलबर्न: क्रीमिया को रूस में मिलाने के लिए मददगार की भूमिका निभाने वाले एक दर्जन रूसी और यूक्रेनी अधिकारियों के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने आर्थिक और यात्रा प्रतिबंध लगाए हैं। ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री जूली बिशप ने कहा कि क्रीमिया को यूक्रेन से अलग करने के लिए किए गए जनमत संग्रह का कोई कानूनी आधार नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय कानून एक देश को किसी ऐसे जनमत संग्रह के आधार पर दूसरे देश का क्षेत्र चुराने की अनुमति नहीं देता, जिसे कि निष्पक्ष और स्पष्ट माना ही नहीं जा सकता। ऑस्ट्रेलियाई सरकार इन लोगों पर आर्थिक प्रतिबंध और यात्रा प्रतिबंध लगाएगी। इन लोगों ने यूक्रेन की संप्रभुता के सामने रूस की ओर से पैदा खतरे के लिए मददगार की भूमिका निभाई है। ऑस्ट्रेलिया ने ये फैसले पूर्ण एकता के भाव के साथ लिए हैं और वह नियमों पर आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था का समर्थन करता है।’’ बिना नाम लिए बिशप ने कहा कि ये आर्थिक और यात्रा प्रतिबंध 12 लोगों पर लगाए जाएंगे। ये लोग हाल ही के बदलाव में मददगार बने थे।

बिशप ने कहा, ‘‘क्रीमिया में यूक्रेन के सैनिकों पर घातक हमले की भर्त्सना की जानी चाहिए। यह हमला रूस द्वारा बढ़ावा दिए जा रहे संकट को रेखांकित करता है। मैं हर संभव कड़े शब्दों में यूक्रेन और उसके नागरिकों के खिलाफ हिंसा के इस्तेमाल की निंदा करती हूं।’’ उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया की कार्रवाई यूरोपीय संघ और कनाडा की ओर से  लगाए गए प्रतिबंधों के अनुरूप है।

उल्लेखनीय है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया को रूस के नक्शे में जोड़ लिया। उन्होंने इसे बीते समय में हुए अन्याय को ठीक करने का कदम बताया। इस तरह उन्होंने उनके देश के महत्वपूर्ण हितों पर पश्चिमी देशों के कथित अतिक्रमण पर भी प्रतिक्रिया दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You