हिंद महासागर में मिलीं लापता विमान की संदिग्ध वस्तुएं!!

  • हिंद महासागर में मिलीं लापता विमान की संदिग्ध वस्तुएं!!
You Are HereInternational
Friday, March 21, 2014-11:53 AM

कुआलालंपुर: मलेशिया एयरलाइंस के लापता विमान के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। चीनी नौसेना के पोत ने दक्षिणी हिंद महासागर में आस्ट्रेलिया के तट का रुख किया। आस्ट्रेलिया के अधिकारियों ने इलाके में संदिग्ध वस्तुओं के तैरने की सूचना दी जिसके बाद पोत उस तरफ रवाना हो गया।

चीनी नौसेना के प्रवक्ता लिआंग यांग ने बताया कि लापता विमान की तलाश में अभी चीनी नौसेना के दो बेड़े जुटे हुए हैं। जिस जगह पर मलेशियाई विमान के टुकड़े तैरते होने का संदेह जताया गया है वहां से दोनों बेड़े क्रमश: 2300 और 3100 नौटिकल मील दूर हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, चीनी नौसेना ने आस्ट्रेलिया से सूचना मिलने के बाद तलाशी अभियान को तुरंत ही समायोजित कर लिया।

वहीं इससे पहले बतां दें कि गुरुवार को अस्ट्रेलिया के समुद्री सुरक्षा प्राधिकरण (एएमएसए) ने कहा कि उपग्रह से करीब 24 मीटर लंबी विशाल वस्तु दक्षिणी हिंद महासागर में तैरती देखी गई है और यह शायद लापता मलेशियाई विमान का टुकड़ा हो सकता है। जिस जगह संदिग्ध वस्तु देखा गया है वह जगह पर्थ से दक्षिणी पश्चिम में करीब 250 किलोमीटर दूर होगा।

उधर, व्हाइट हाउस ने कहा है कि उसे लापता विमान की तलाश में मलेशिया से पूर्ण सहयोग मिल रहा है और अमेरिका विमान की तलाश एवं जांच में मलेशियाई अधिकारियों की मदद कर रहा है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने संवाददाताओं से कहा कि हम कई तरीकों से मदद कर रहे हैं। हम एफएए, एनटीएसबी और एफबीआई के जरिए मदद मुहैया करा रहे हैं। हमें मलेशियाई सरकार से पूरा सहयोग मिल रहा है। मलेशियाई सरकार ने तलाश और जांच दोनों अभियानों का नेतृत्व किया है। उन्होंने कहा कि विमान में क्या हुआ, इस बारे में अमेरिका के पास मुहैया कराने के लिए कोई नई जानकारी या निष्कर्ष नहीं है। कार्नी ने कहा कि हम स्पष्टत: हिंद महासागर में तलाश करने में मदद कर रहे हैं और यदि आप मुझसे मलबा संबंधी रिपोर्ट के बारे में पूछने जा रहे हैं तो मेरे पास इस बारे में कोई नई जानकारी नहीं है।

गौरतलब है कि मलेशिया एअरलाइन्स का विमान एमएच 370 कुआलालंपुर से 8 मार्च को बीजिंग के लिए उड़ान भरा था और उसके करीब एक घंटे बार रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। बोइंग 777-200ईआर के बारे में शुरू में माना जा रहा था कि वियतनाम तट के पास दक्षिण चीन सागर में गिर गया होगा। विमान को सुबह 6:30 बजे बीजिंग में उतरना था। विमान में सवार 227 यात्रियों में पांच भारतीय, 154 चीनी और 38 मलेशियाई थे। विमान का संपर्क रडार से आधरी रात बाद 1:40 बजे भंग हो गया। उस समय वह वियतनाम के हो ची मिन्ह शहर के वायु यातायात नियंत्रण की सीमा से गुजर रहा था।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You