लापता विमान मामला: चीनी विमानों ने संदिग्ध वस्तुएं देखी

  • लापता विमान मामला: चीनी विमानों ने संदिग्ध वस्तुएं देखी
You Are HereInternational
Monday, March 24, 2014-7:05 PM

बीजिंग: चीन के एक टोही विमान ने आज दक्षिणी हिन्द महासागर में ‘संदिग्ध’ वस्तुएं देखीं। इस बीच मलेशिया के लापता विमान की खोज का काम और तेज हो गया है और 10 विमान सुदूर क्षेत्रों में लापता विमान का पता लगाने के कार्य में लगे हैं। मलेशिया एयरलाइन के लापता विमान एमएच 370 की तलाश में जुटे चीन के विमान ल्यूशिन 76 के चालक दल ने ‘उजली और चौकोर’ वस्तुएं देखी हैं ।

वहीं, चीन की सरकार इस मामले में सुनिश्चित नहीं है कि चीनी वायु सेना द्वारा देखा गया मलबा लापता मलेशियाई विमान का ही है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हांग लेई ने इसकी जानकारी देते हुये कहा कि खोजी अभियान के लिये चीनी जहजों के कल दक्षिणी हिंद महासागर में पहुंचने की संभावना है।

यह विमान आठ मार्च से लापता है जिस पर 239 लोग सवार थे।  सरकारी समाचार एजेंसी शिन्ह्वा की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘ दो अपेक्षाकृत बड़ी तैरती हुई वस्तुएं और कुछ छोटी उजली वस्तुएं कई किलोमीटर के क्षेत्र में बिखऱी हुई है।’’  रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘ चालक दल ने वस्तुओं की स्थिति आस्ट्रेलिया के कमान केंद्र और चीन के ज्यूलांग से 95.1113 डिग्री पूर्व और 42.5453 डिग्री दक्षिण में बतायी ,जो समुद्री क्षेत्र से संबंधित मार्ग में है।’’ एजेंसी के रिपोर्टर विमान पर सवार थे।

आस्ट्रेलिया नौवहन सुरक्षा प्राधिकार (एएमएसए) के अनुसार, लापता विमान एमएच 370 की तलाश आज पांचवें दिन भी जारी रही और आज इस कार्य में 10 विमान लगे थे। आस्ट्रेलियाई नौवहन सुरक्षा प्राधिकार के बयान के अनुसार, ‘‘ चीन के दो सैन्य विमानोंं ने सुबह 8 बजकर 45 मिनट और 9 बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरी।

आरएएएफ पी 3 ओरियन स्थानीय समय के अनुसार सुबह नौ बजे के करीब तलाशी अभियान के लिए निकला।’’  लम्बी दूरी वाले दो नागरिक विमान, एक अन्य आरएएएफ पी3 ओरियप विमान, एक तीसरा लम्बी दूरी वाला विमान, एक अमेरिकी नौसेना का पी8 पोसियोडान विमान और दो जापानी पी3 ओरियन विमानों को तलाशी अभियान में लगाया गया था। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You