Subscribe Now!

लापता विमान: हिंद महासागर के ऊपर ईंधन खत्म होना बना हादसे की वजह!

  • लापता विमान: हिंद महासागर के ऊपर ईंधन खत्म होना बना हादसे की वजह!
You Are HereChina
Tuesday, March 25, 2014-4:12 PM

मलेशिया: मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक ने कहा कि पिछले 17 दिनों से रहस्यमयी तरीके से लापता विमान ‘मलेशिया एयरलाइंस जेट’ सुदूरवर्ती दक्षिणी हिंद महासागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया और इसमें कोई जिंदा नहीं बचा। इस विमान में हादसे के वक्त पांच भारतीयों सहित 239 लोग सवार थे। इस बारे में यात्रियों के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है।

वहीं, मलेशियाई राजदूत दातुक इसकंदर बिन सारूदीन के साथ हुई अपात बैठक के चीनी उप विदेश मंत्री शी हांगशेंग ने कहा, ‘हम मलेशियाई पक्ष से उन तथ्यों को स्पष्ट करने की मांग करते हैं, जिनके आधार पर उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला है।’ उपग्रह संचालक इनमेरसेट ने कहा है कि उसने विमान से समय-समय पर मिलने वाले ‘पिंग्स (ध्वनि स्पंद) के डॉप्लर प्रभाव को मापकर मलेशियाई विमान सेवा के लापता होने की दिशा का पता लगा लिया है।

मलेशियाई प्रधानमंत्री ने इससे पहले घोषणा की थी कि इनमेरसेट के विश्लेषण ने विमान एमएच 370 के मार्ग की अंतिम स्थिति ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी तट के सुदूर जल में बताई थी। इसका अर्थ यह है कि दक्षिणी हिंद महासागर के उपर इसका ईंधन खत्म हो गया होगा। विमान के संचार तंत्र बेशक बंद हो गए थे लेकिन उपग्रही पिंग्स तब भी विमान से टकराकर वापस आ रहे थे। पिंग्स जमीनी स्टेशन से उपग्रह को भेजे जाते हैं। इसके बाद ये विमान को भेजे जाते हैं। शी ने इस बात पर जोर दिया कि खोज और बचाव का काम रूकना नहीं चाहिए। कल ही चीनी नौवहन अधिकारियों ने कहा था कि चीन मलेशियाई विमान एमएच 370 की खोज के लिए और ज्यादा जहाज दक्षिणी हिंद महासागर में भेजेगा। चीन पहले ही लगभग छह जहाज भेज चुका है। दो चीनी विमान समुद्र में खोज कार्यो में लगे हैं। लापता विमान पर 154 चीनी यात्री भी थे। (एजेंसी)

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You