मिस्र में 529 लोगों को दी गई फांसी की सजा उचित नहींं: अमेरिका

  • मिस्र में 529 लोगों को दी गई फांसी की सजा उचित नहींं: अमेरिका
You Are HereInternational
Tuesday, March 25, 2014-11:06 AM

वाशिंगटन: अमेरिका ने मिस्र के प्रतिबंधित संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड के 529 सदस्यों को एक साथ मौत की सजा सुनाए जाने को अनुचित ठहराते हुए इस पर गहरी चिंता व्यक्त की है।

अमेरिका ने सोमवार को कहा कि वह इस घटना से बेहद चिंतित है। विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, "मौत की सजा पाने वाले लोग हालांकि अपील कर सकते हैं, लेकिन फिर भी यह असंभव सा दिखता है कि मात्र दो दिन की सुनवाई में अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप सभी सबूतों और गवाहों की समीक्षा कर ली गई होगी। हम लगातार मिस्र की सरकार से यह आग्रह करते रहेंगे कि वह वहां सभी बंदियों के मानवाधिकार का सम्मान करके उनके मामले की निष्पक्ष सुनवाई सुनिश्चित करे। कानून को सभी लोगों पर एक समान लागू किया जाना चाहिए और इसमें राजनीतिक भेदभाव को दखल नहीं मिलनी चाहिए।"

गौरतलब है कि मिस्र की एक अदालत ने सोमवार को ब्रदरहुड के 529 सदस्यों को एक पुलिस अधिकारी की हत्या तथा अन्य आरोपों में फांसी की सजा दी।  मुकदमे की सुनवाई शनिवार को शुरू हुई और जज ने न तो वकीलों की बात सुनी न गवाहों की गवाही ली। जज ने बचाव पक्ष को भी नहीं सुना।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You