यूक्रेन संकट: G8 से रूस को निकाला गया बाहर

  • यूक्रेन संकट: G8 से रूस को निकाला गया बाहर
You Are HereInternational
Tuesday, March 25, 2014-3:24 PM

वॉशिंगटन: आर्थिक शक्तियों के समूह जी-7 ने रूस को क्रीमिया पर कब्जे के मद्देनजर रूस को शक्तिशाली समूह जी-8 से बाहर निकाल दिया है और धमकी दी है कि यदि मास्को यूक्रेन में घुसपैठ जारी रखता है तो दूरगामी प्रभाव वाले प्रतिबंध लगाए जाएंगे।

अमेरिका और छह अन्य आर्थिक शक्तियों ने जून में रूस की अध्यक्षता में सोची में होने वाली जी-8 की बैठक रद्द कर दी ताकि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर यूक्रेन में उनकी सैन्य कार्रवाई के संबंध में दबाव बनाया जा सके।

इन देशों की हेग में हुई एक आपात बैठक में यूक्रेन संकट पर चर्चा की गई और उसके बाद कल घोषणा की गई कि जून में सोची (रूस) में होने वाली जी-8 शिखर बैठक रद्द कर दी गई है। रूस को 16 साल पहले इस विशिष्ट जमात में शामिल किया गया था। अब रूस के बगैर ब्रसेल्स में यह बैठक करने का फैसला किया गया।

हेग की बैठक में परमाणु सुरक्षा सम्मेलन के मौके पर कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन, अमेरिका, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष और यूरोपीय आयेाग के अध्यक्ष की अलग से हुई बैठक में जी-8 की सोची बैठक रद्द करने का निर्णय लिया गया।

जी-7 ने एक संयुक्त बयान में कहा, ‘‘हम जी-8 में अपनी भागीदारी तब तक निलंबित रखेंगे जब तक कि रूस अपनी दिशा नहीं बदलता और ऐसा माहौल फिर से नहीं बन पाता, जिसमें जी-8 कोई अर्थपूर्ण चर्चा कर सके और जून 2014 में उसी समय जी-7 की बैठक ब्रसेल्स में होगी, जिसमें इसके विस्तृज एजेंडे पर चर्चा होगी।’’

बयान में कहा गया है, ‘‘हमने अपने विदेश मंत्रियों को मॉस्को में अप्रैल को होने वाली बैठक में हिस्सा नहीं लेने का परामर्श दिया है। इसके अलावा हमने फैसला किया है कि अपनी सामूहिक उर्जा सुरक्षा को मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा करने के लिए जी-7 के उर्जा मंत्रियों की बैठक होगी।’’ अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसे जी-7 को कड़ा रख करार दिया, जिससे स्पष्ट होता है कि रूस की कार्रवाई के गंभीर परिणाम होंगे।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You