ट्राई वैली विश्वविद्यालय की संस्थापक 31 आरोपों में दोषी करार

  • ट्राई वैली विश्वविद्यालय की संस्थापक 31 आरोपों में दोषी करार
You Are HereInternational
Thursday, March 27, 2014-8:03 PM

वाशिंगटन: सैकड़ों भारतीय छात्रों का शैक्षणिक करियर बर्बाद करने वाले अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित ट्राई वैली विश्वविद्यालय की संस्थापक को ‘फेडरल ग्रैंड ज्यूरी’ ने वीजा फ्राड सहित 31 आरोपों में दोषी करार दिया है। सैन फ्रांसिस्को के अमेरिकी जिला अदालत के न्यायाधीश जॉन एस. टाइगर के समक्ष तीन सप्ताह तक चली ज्यूरी की सुनवाई में विश्वविद्यालय की संस्थापक सुसन शाओ-पिंग सु को दोषी करार दिया गया है। उसे 20 जून को सजा सुनाई जानी है।

अभियोजकों ने बताया कि ट्राई वैली विश्वविद्यालय के कामकाज की आड़ में वीजा फ्राड और धन के हस्तांतरण सहित गैरकानूनी तरीकों से सु ने 59 लाख डॉलर की राशि कमाई है। विश्वविद्यालय में पढऩे वाले करीब 90 प्रतिशत छात्र भारतीय थे। संघीय जांचकर्त्ताओं को विश्वविद्यालय में अनियमित्ताओं की सूचना मिलने के बाद इस मामले की जांच मई 2010 में शुरू हुई थी। फेडरल ग्रैंड ज्यूरी ने सु को इस मामले के विभिन्न आरोपों के लिए नवंबर 2011 में अभ्यारोपित किया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You