समाचार संस्थान हैं हैकरों के निशाने पर

  • समाचार संस्थान हैं हैकरों के निशाने पर
You Are HereInternational
Friday, March 28, 2014-8:36 PM

सिंगापुर: विश्व भर के शीर्ष 25 समाचार संस्थान में से 21 संस्थान हैकर्स के निशाने पर रहे है। सर्च इंजन गूगल के सुरक्षा इंजीनियर शेन हंटले ने बताया कि अगर आप एक पत्रकार हैं अथवा किसी समाचार संस्थान से जुड़े हुए हैं तो आप राज्य प्रायोजित हैकिंग के शिकार है। हंटले कहते है कि पत्रकार अथवा समाचार संस्थान दुनिया के किसी भी कोने का हो, हम देखते हैं कि उसका रिकार्ड हैक हो रहा है।

गुगल के दो सुरक्षा इंजीनियरों ने बाकायदा इस पर शोध किया है। हालांकि उन्होंने इस बात का खुलासा करने से इन्कार किया कि इस तरह की हैकिंग पर गूगल किस तरह से निगाह रखता है। सिंगापुर में शुक्रवार को आयोजित ब्लैक हैट हैकर्स कान्फ्रेंस में इन्होंने अपना शोधपत्र प्रस्तुत किया। इस दौरान शोधकर्त्ताओं ने कहा कि ये साइबर अपराध सरकार के लिए अथवा सरकार के सहयोग से किए जा रहे है इनका मुख्य निशाना पत्रकार अथवा समाचार संस्थान होते है। अमेरिका के कई समाचार प्रतिष्ठानों ने कहा है कि गत वर्षो में उनके ई मेल अकाउंट हैक किए गए हैं।

फोब्र्स पत्रिका (द फाइनेंशियल टाइम्स) और (द न्यूयार्क टाइम्स) सीरियन इलेक्ट्रानिक आर्मी हैकिंग के शिकार हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि चीन के हैकर्स ने हाल ही में पश्चिम के एक बड़े न्यूज आर्गेनाइजेशन के ई मेल अकाउंट को हैक किया था। हालांकि उन्होंने उसकी पहचान बताने से इन्कार किया। शोधकर्त्ताओं ने कहा कि हैकिंग की घटनाएं नई नहीं है लेकिन पत्रकारों की जानकारियां जूटाना हैकिंग का यह एक ऐसा मामला है जिसकी संख्या काफी अधिक है लेकिन इसके बारे में व्यापक पैमाने पर पता ही नहीं चला है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You