पाक अदालत ने परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह मामले में दोषी ठहराया

  • पाक अदालत ने परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह मामले में दोषी ठहराया
You Are HereInternational
Monday, March 31, 2014-12:58 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ पर मामले की सुनवाई कर रही एक विशेष अदालत ने आज देशद्रोह का अभियोग लगाया। वह ऐसे पहले सैन्य शासक बन गए हैं जिन्हें आपराधिक अभियोग का सामना करना पड़ेगा। अदालत में पेश हुए मुशर्रफ धारा 6 के तहत देशद्रोह के आरोपी हैं।

उन पर यह मामला नवंबर 2007 में संविधान को निलंबित करने, नष्ट करने और निरस्त करने, आपातकाल लगाने तथा शीर्ष अदालतों के न्यायाधीशों को हिरासत में रखने से संबंधित है। पाकिस्तान के इतिहास में 70 वर्षीय मुशर्रफ ऐसे पहले सैन्य शासक हैं जिनपर अदालत में अभियोग चलेगा । वैसे, मुशर्रफ ने अपने उपर लगे सभी आरोपों से इनकार किया है। 

मुशर्रफ ने कहा, ‘‘मैंने जो कुछ भी किया, देश के लिए किया। मुझे दुख है कि मुझे देशद्रोही कहा जा रहा है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने पाकिस्तान की सेना को अपने जीवन के 44 साल दिए हैं और रक्षा बलों को मजबूत बनाया। मुशर्रफ ने कहा कि उन्होंने देश को प्रतिष्ठा और प्रगति दी। इसके जवाब में अभियोजक अकरम शेख ने कहा कि उन्होंने ‘‘देशद्रोही’’ शब्द का इस्तेमाल कभी नहीं किया है। सिंध हाईकोर्ट के न्यायाधीश फैसल अरब ने पूर्व सेना प्रमुख के खिलाफ आरोप पढ़कर सुनाए।

अभियोग लगाए जाने से पहले मुशर्रफ की बचाव टीम के एक नए वकील फरोग नसीम ने अदालत से आग्रह किया कि उनके मुवक्किल को उनकी 95 वर्षीय बीमार मां को देखने संयुक्त अरब अमीरात जाने की इजाजत दी जाए। उन्होंने कहा कि संवधिान किसी को भी किसी नागरिक की गतिविधियों को प्रतिबंधित करने की अनुमति नहीं देता।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You