मलेशिया लापता विमानः तो ये थे पायलट के अंतिम शब्द!

  • मलेशिया लापता विमानः तो ये थे पायलट के अंतिम शब्द!
You Are HereInternational
Tuesday, April 01, 2014-11:29 AM

नई दिल्लीः 8 मार्च से मलेशिया एयरलांइस के लापता विमान एम एच 370 के बारे में अभी तक कोई ठोस सबूत नहीं मिल पाएं हैं। हालांकि मलेशिया सरकार ने विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की पुष्टि कर दी है। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और चीन सहित अन्य देश विमान के मलबे को खोजने की कोशिशों में लगे हैं।

मलेशियाई अधिकारियों ने अपने लापता विमान संख्या एमएच370 के काकपिट और एयर ट्रैफिक कंट्रोल के बीच हुई अंतिम बातचीत के नए संस्करण को जारी किया है, जिसके अनुसार, अंतिम कहे गए शब्द थे- "शुभ रात्रि मलेशिया तीन सात शून्य।" जबकि इससे पहले अंतिम बातचीत में कहा गया था कि "सब ठीक है, शुभ रात्रि"

मलेशिया के परिवहन मंत्री ने बताया कि इस बात का पता फॉरेंसिक जांच से ही पता चलेगा कि क्या ये शब्द पायलट के थे या सह-पायलट के। एक परिवहन संवाददाता का कहना है कि अभी ये साफ नहीं हुआ है कि आखिर अंतिम बार कहे गए शब्दों में बदलाव क्यों किया गया या अधिकारियों को ये बात बताने में इतना अधिक समय क्यों लगा।

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबॉट ने कहा कि बचाव दल ने लापता विमान की खोज के लिए कोई समय सीमा नहीं तय की है। विमान और पानी के जहाज पर्थ के पश्चिम में हिंद महासागर में लापता विमान के निशान तलाश रहे हैं। इससे पहले उपग्रहों से मिले चित्रों में हिंद महासागर में उतराते कई टुकड़ों की पहचान हुई थी। खोज दल ने इस टुकड़ों की जांच की, लेकिन अभी तक इनमें से टुकड़े की पहचान लापता विमान के अवशेष के तौर पर नहीं हुई है।

8 मार्च को लापता हुए इस विमान पर 239 लोग सवार थे और ये कुआलालंपुर से बीजिंग जा रहा था। इस विमान से अंतिम बार मलेशियाई समय के मुताबिक रात 1 बजकर 19 मिनट पर संपर्क हुआ था। इस लापता विमान में चीन के 153 यात्री सवार थे। इन यात्रियों के करीब दर्जन भर रिश्तेदार इस समय कुआलालंपुर में हैं। वह इस बात को लेकर नाराज हैं कि मलेशियाई अधिकारी पूरी जानकारी नहीं दे रहे हैं।

मलेशिया के कार्यवाहक परिवहन मंत्री हिशामुद्दीन हुसैन ने कहा कि सरकार जल्द ही इन परिवारों घटना की पूरी जानकारी देने के लिए बुलाएगी। इस दौरान अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ भी मौजूद होंगे, जो पूरे अभियान के तकनीकी पहलू को बताएंगे। इस आयोजना का बीजिंग में दूसरे परिवारों के लिए सीधा प्रसारण भी किया जाएगा और मलेशिया ये जानकर ही रहेगा कि आखिर उड़ान संख्या एमएच370 के साथ क्या हुआ।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You