बुलंद हौंसलों से जिंदगी जीने वाले इन लोगों को सलाम

  • बुलंद हौंसलों से जिंदगी जीने वाले इन लोगों को सलाम
You Are HereInternational
Friday, April 04, 2014-3:53 PM

जालंधरः दुनिया में बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो इस दुनिया में अनोखे ही रूप में जन्म लेकर आए हैं। इस रूप में जन्म लेना उनके लिए कोई आसान नहीं था। ऐसे लोगों को कई बार लोगों की हंसी तो कई बार लोगों की दया का पात्र बनना पड़ा है। लेकिन जिन लोगों की बात हम कर रहे हैं, उन्होंने अपनी हिम्मत नहीं हारी और अपने बुलंद हौंसले की वजह से ही वह सिर उठा कर जिंदगी जी रहे हैं।
 
आइए, जानिए कुछ ऐसे लोगों के बारे में जिन्होंने जिंदगी से मुंह मोड़ने की बजाए उसका सामना किया।

शिलोह पेपिनः शिलोह का जन्म हुआ तो एक सामान्य बच्चे के तरह ही था, लेकिन वह बाकी बच्चों की तरह नहीं थी। उसके शरीर के ऊपर का हिस्सा तो आम बच्चों की तरह था, लेकिन नीचे का हिस्सा बिल्कुल अनोखा एक जलपरी की तरह था। उसका गर्भाशय, टांगे और पैर नहीं थे। जन्म के बाद ही उसे कई तरह की सर्जरी की जरूरत थी। कई तरह के कष्ट झेलने के बावजूद इस छोटी सी बच्चे ने हिम्मत नहीं हारी और जिंदगी का डट के मुकाबला किया।

एबी और ब्रिटनीः एबी और ब्रिटनी दो जुड़वा बहनें हैं। यह भी सामान्य रूप से पैदा हुई । दोनों बहनों का शरीर तो एक था, लेकिन सिर दो थे। दोनों ने अपने इस शरीर के साथ समझौता किया और एक दूसरे का साथ दिया। दोनों इक्ट्ठे उठने से लेकर सोने तक का सारा काम एक तरीके से करती हैं। दो अलग-अलग दिमाग और सोच होने के बावजूद एक साथ रहना कोई आसान काम नहीं है, लेकिन इन बहनों ने इस बात को अपना सच और अपनी जिंदगी मान लिया।

जुलिआनाः ऐसी ही कहानी है इस मासूम सी लड़की की भी। जुलिआना की मां ने भी कभी नहीं सोचा था कि जिस बच्चे को वो जन्म देगी वो इस तरह का पैदा होगा, लेकिन जन्म के बाद उसने इस बात को स्वीकार किया और उसे प्यार दिया। जुलिआना का एक बड़ा भाई भी है, वह सामान्य बच्चों की तरह ही है। दरअसल जुलिआना को 'ट्रेचेर कोलिन्स सिन्ड्रोम' नाम की बीमारी हैं, जिसने उसके चेहरे को गर्भ में ही बनने नहीं दिया। जब उसका जन्म हुआ तो उसके माता-पिता भी उसे देखकर हैरान हो गए। उसकी आंखें और गाल नहीं थे, उसका जबड़ा पूरे मुंह पर फैला हुआ था और जीभ बाहर की ओर लटकी हुई। दो बड़ी सर्जरी की मदद से उसकी आंखों को आकार दिया गया। अभी उसकी काफी सर्जरी होनी बाकी है।

रोजमारियाः कुछ ऐेसे ही जजबो से भरी है ये महिला। इनका नाम है रोजमारिया। उन्होंने किसी कारणों से अपने शरीर का निचला हिस्सा बचपन में ही खो दिया। उनका कद सिर्फ दो फुट हैं। वह बचपन से इस तरह की जिंदगी जीती आ रही हैं। वह बाकी लोगों की तरह काम करती है। इतना ही नहीं, वह शादीशुदा हैं और उनके दो बच्चे भी हैं। वह खुद ड्राइविंग करती है। जब लोग उन्हें पूछते है कि वह यह कैसे कर लेती हैं, उन्हें नहीं लगता कि उनका शरीर अधूरा हैं तो उनका जवाब होता है, नहीं। वह कहती हैं कि वह जैसी है, वैसी ही ठीक हैं।

जहां एक सामान्य व्यक्ति अपनी ख्वाहिशों को लेकर कुढ़ता रहता है, वहीं ऐसे लोग दुनिया के लिए प्रेरणा हैं जो ऐसे हालतों में रहकर भी खुश रहते हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You