मधुमक्खियों के बर्ताव को लेकर वैज्ञानिक ने किया गुप्तांग पर प्रयोग

  • मधुमक्खियों के बर्ताव को लेकर वैज्ञानिक ने किया गुप्तांग पर प्रयोग
You Are HereInternational
Tuesday, April 08, 2014-5:55 PM

न्यू यॉर्क: अपने सवालों जवाब ढूंढने के लिए वैज्ञानिक जिस तरीकों को अपनाते हैं जो आम इंसान की सोच से काफी दूर हैं। अब इस प्रयोग को ही देख लें। पोस्ट ग्रेजुएट माइकल न्यू यॉर्क के कारलेन यूनिवर्सिटी के छात्र और एक वैज्ञानिक है। वह मधुमक्‍खी के बर्ताव पर अध्य्यन कर रहा था।

असल में वह इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहा था कि मधुमक्‍खी के इंसान को काटने पर उसे सबसे अधिक दर्द कहां होता है। यह प्रयोग उसने अपने ही शरीर पर किया। उसने मधुमक्‍खी को नाक, आंख, गला, गाल हिस्सों के साथ साथ अपने गुप्तांग पर भी कटवाया।

उसका ये टेस्ट लगभग पांच हफ्तों तक चला। इसके बाद माइकल नाम के इस शख्स को अपनी स्टडी पूरा करने में मदद मिली और उसने हैरान करने वाले जवाब ढूंढ़े। माइकल ने अपने ऊपर किए अध्य्यन में मधुमक्‍खी के इंसान को काटने के बर्ताव का आंकलन निकाला।

माइकल के अनुसार, मधुमक्‍खी के काटने पर सबसे अधिक दर्द नाक पर होता है और उसके मुकाबले गुप्तांग पर दर्द कम था। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You