वीटो के बावजूद अमरीका करेगा आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई

  • वीटो के बावजूद अमरीका करेगा आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई
You Are HereInternational
Tuesday, April 04, 2017-5:03 PM

वॉशिंगटनः डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने कहा कि अगर कोई देश  संयुक्त राष्ट्र में टेररिस्ट सैक्शंस पर वीटो भी करता है तो उस स्थिति में भी अमरीका आतंकियों पर कार्रवाई करेगा। ये बात यूएन में यूएस एम्बेसडर निक्की हेली ने कही है। बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर के मुद्दे पर चीन यू.एन में लगातार विरोध कर रहा है। वहीं, भारत यूएन में अजहर पर बैन लगाने की बात कर रहा है।

हेली ने मंगलवार को सिक्योरिटी काउंसिल प्रेसिडेंट के आगामी दिनों में होने वाले रुख को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, "ट्रंप प्रशासन सभी मुद्दों पर नजर रख रहा है। कुछ सैंक्शंस पर हम चर्चा कर चुके हैं। ये बात भी हुई है कि हम उन पर क्या एक्शन लेंगे।" चीन का बिना नाम लिए हेली ने कहा, "हम आतंकियों खासकर साउथ एशियाई रीजन में उन पर लगे सेंक्शंस की बात कर रहे हैं। यूएन सिक्योरिटी काउंसिल का कोई  स्थाई सदस्य  कैसे वीटो पावर का इस्तेमाल कर उन पर कार्रवाई को बाधित कर सकता है।"

 "एक बात तो तय है कि अमरीकी की कार्रवाई ऐसे किसी वीटो से बेअसर रहेगी। हम अपने रुख में कोई बदलाव नहीं करेंगे। अगर हम साथ रहेंगे तो मकसद जल्दी पूरा होगा बजाय इसके कि अमरीका अलग से कोशिश करे।"  हेली ने कहा "यह बिलकुल सही है कि ट्रंप भारत और पाकिस्तान के बीच रिलेशन को लेकर चिंता रखते हैं ।" उन्होंने कहा कि  "मुझे उम्मीद है कि अमरीकी सरकार दोनों देशों से बातचीत करेगी और तनाव को कम करने के लिए कोशिश करेगी। 

बता दें कि हेली से मीडिया ने कश्मीर मुद्दे पर सवाल किए और पूछा कि क्या अमरीका भारत-पाकिस्तान के बीच शांति वार्ता के लिए कोई कोशिश कर सकता है। इसके जवाब में हेली ने कहा कि हां बिलकुल ऐसा लगता है कि हमें इसमें एक्टिव रोल निभाना चाहिए। दोनों देशों के बीच तनाव और विवाद बढ़ रहा है, इसलिए हम यह देखना चाहते हैं कि इसका किस तरह हिस्सा बन सकते हैं।
 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You