लंबी उम्र जीते हैं ये पाकिस्तानी, 65 की उम्र में भी महिलाएं बनती हैं मां!

You Are HereInternational
Wednesday, April 19, 2017-6:43 PM

लाहाैरः पाकिस्तान के किलगिट-बलिस्तान क्षेत्र में समुद्रतल से करीब 2000 फीट ऊपर स्थित काराकोरम की पहाड़ियों में बसे हुंजा समुदाय के लोग पूरी दुनिया में लंबी आयु के लिए जाने जाते हैं। इनकी संख्या लगभग 87 हजार है। जेआई रोडाल ने अपनी किताब 'द हेल्दी हुंजास' में इस बात का जिक्र किया है कि यहां के लोगों की औसत आयु 120 साल होती है। हालांकि, कुछ लोग 145 से 150 साल तक भी जीवित रहते हैं।

PunjabKesari

ये दिखने में भी अपने उम्र से काफी कम नजर आते हैं। इस समुदाय की महिलाएं 65 साल की उम्र में भी बच्चे को जन्म देती हैं और पुरुष 90 साल में भी पिता बन सकते हैं। हुंजा जाति के लाेगाें की लाइफस्टाइल ही इनके लंबे समय तक जीवित रहने का मूल कारण है। ये लोग हर दिन करीब 19 किलोमीटर पैदल चलते हैं। पहाड़ के ऊपरी हिस्से पर बसे होने के कारण पूरा इलाका प्रदूषण रहित है।

PunjabKesari

ये लोग 12 महीने में 12 तरह का खाना खाते हैं। इसके अलावा वो वही खाना खाते हैं, जिसकी पैदावार वो खुद करते हैं। यहां के लोग प्रतिदिन अखरोट का सेवन करते हैं। इनका दूध, फल, मक्खन सब चीजें शुद्ध होती हैं। खेत में पेस्टिसाइड स्प्रे करना इस कम्युनिटी में बैन है। ये खासतौर पर जौ, बाजरा, कुट्टू और गेहूं खाते हैं। इनके अलावा आलू, मटर, गाजर, शलजम, दूध जैसी चीजें भी ये बहुत खाते हैं। ये कम्युनिटी मांस बहुत कम खाती है।

PunjabKesari

इतना ही नहीं इस समुदाय के लोग दिन में 2 बार ही खाना खाते हैं। इस तरह की लाइफ स्टाइल की वजह से इन्हें कैंसर जैसी बीमारी नहीं होती। इस समुदाय के ऊपर कई सारे रिसर्च भी हुए हैं। हुंजा वैली पाकिस्तान की सबसे ज्यादा पसंदीदा टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स में से एक है, जिसे देखने के लिए दुनियाभर से टूरिस्ट आते हैं।
PunjabKesari
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You