‘‘चीन को कमजोर करने के लिए भारत को नहीं करना चाहिए दलाई लामा का इस्तेमाल’’

  • ‘‘चीन को कमजोर करने के लिए भारत को नहीं करना चाहिए दलाई लामा का इस्तेमाल’’
You Are HereInternational
Monday, April 17, 2017-3:02 PM

बीजिंग: चीन ने दलाई लामा की हालिया अरूणाचल प्रदेश यात्रा के कारण भारत-चीन संबंधों पर ‘नकारात्मक असर’पड़ने की बात कही और साथ ही कहा कि भारत को तिब्बती अध्यात्मिक नेता का इस्तेमाल बीजिंग के हितों को ‘कमजोर’ करने के लिए नहीं करना चाहिए। 


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा,‘‘दलाई लामा की अरूणाचल प्रदेश यात्रा का भारत-चीन संबंधों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। भारत को तिब्बत संबंधी मुद्दों पर प्रतिबद्धता का पालन करना चाहिए और चीन के हितों को कमजोर करने के लिए दलाई लामा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।’’उन्होंने कहा कि केवल यही एक रास्ता है जिसके जरिए ‘‘हम सीमा के सवाल को सुलझाने के लिए अच्छा माहौल तैयार कर सकते हैं ।’’


चीन के प्रवक्ता की यह टिप्पणी शुक्रवार को भारतीय विदेश मंत्रालय के जवाब की पृष्ठभूमि में आई है जिसमें कहा गया था कि तिब्बत के चीन का हिस्सा होने के संबंध में नई दिल्ली की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले कह चुके हैं कि भारत बरसों से लंबित सीमा मुद्दे का आपसी रूप से स्वीकार्य और न्यायोचित समाधान की तलाश जारी रखेगा।   बता दें कि दलाई लामा 4 से 11 अप्रैल तक अरूणाचल प्रदेश के दौरे पर गए थे ।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You