Subscribe Now!

ट्रंप की नीतियां ISIS जैसी, कर रहे अातंकियों की मदद: सादिक खान

  • ट्रंप की नीतियां ISIS जैसी, कर रहे अातंकियों की मदद: सादिक खान
You Are HereInternational
Tuesday, January 23, 2018-1:35 PM

लंदनः अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर फिर निशाना साधते लंदन के पहले मुस्लिम मेयर सादिक खान ने कहा कि ट्रंप आईएस आतंकियों की तरह उत्तेजनापूर्ण भाषा में बात करते हैं। सादिक ने कहा है कि ट्रंप ट्विटर पर उत्तेजनापूर्ण अंदाज में अपनी बात रखते हैं, इससे आतंकियों को फायदा होता है। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा है कि ट्रंप और आईएस में यह समानता है कि आईएस भी चाहता है कि इस्लामोफोबिक हमलों में इजाफा हो। लंदन के मेयर ने कहा है कि आईएस भी इसी रणनीति पर काम करता है कि दुनिया में इस्लाम पर गर्व करने वालों और पश्चिमी देशों में रहने पर गर्व करने वालों के खिलाफ लोगों की प्रतिक्रियाएं बढ़ें।

समाचार एजैंसी रॉयटर्स के मुताबिक खान ने कहा है कि हमारे सामने इस समय आईएस के नारों 'सभ्यताओं के टकराव' और 'पश्चिमी देश हमसे नफरत करते हैं' को बढ़ावा देने वाली ताकतों का खतरा है। और ट्रंप ने भी अक्सर ऐसी ही भाषा का इस्तेमाल किया है, जिससे आईएस को अपनी बात को सही साबित करने में मदद मिली है।इस्लाम और आतंक के बीच संबंध बताने की ट्रंप की आदत पर प्रतिक्रिया देते उन्होंने कहा है कि ट्रंप के मुस्लिमों के खिलाफ की गई कार्रवाई से आतंकियों के एजेंडे को ही फायदा मिला है। आपको बता दें कि खान लंदन के पहले मुस्लिम मेयर हैं।

सादिक खान ने कहा है कि आईएस इसी बात का फायदा उठाकर इस्लाम की गलत व्याख्या पेश करते हैं कि कोई एक साथ सच्चा मुसलमान और सच्चा ब्रिटिश या सच्चा अमरीकी नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा है कि ट्रंप अपने हालिया ट्वीट से मुस्लिमों को हत्यारा और आतंकी के रूप में दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। वैसे, इन ट्वीट्स को असल में दक्षिणपंथी ब्रिटिश राजनीतिक दल 'ब्रिटेन फर्स्ट' की दूसरे नंबर की नेता जायदा फ्रानसेन ने किया था. ट्रंप ने इनमें से एक ट्वीट को रीट्वीट किया था। सादिक खान ने अमरीकी राष्ट्रपति पर ताजा हमला उनके अपना ब्रिटेन का दौरा रद्द करने के बाद बोला है।  ट्रंप ने ओबामा प्रशासन के लंदन वाला दूतावास बदलने की नीति की आलोचना करते हुए अपना लंदन का दौरा रद्द कर दिया था।

हालांकि, कई विश्लेषकों का कहना था कि ट्रंप ने लंदन के मेयर सादिक खान की आलोचना के बाद यह कदम उठाया है। सादिक खान ने कहा था कि अगर ट्रंप ब्रिटेन आएंगे तो वह उनका स्वागत नहीं करेंगे। ट्रंप और सादिक के बीच वाकयुद्ध उनके अणरीकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए प्रचार के समय से ही शुरू हो गया था। तब खान ने कहा था कि ट्रंप के सभी मुस्लिमों को अमरीका आने से रोकने का प्रस्ताव बेवकूफाना है। इसके बाद ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने पर जब सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका आने पर रोक लगाई तो भी खान ने कहा था कि ट्रंप की नीति 'बेशर्म और निर्दयी' है। 


 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You