अमरीकी छात्र की मौत के बाद ट्रंप ने उ.कोरिया को आड़े हाथ लिया

  • अमरीकी छात्र की मौत के बाद ट्रंप ने उ.कोरिया को आड़े हाथ लिया
You Are HereInternational
Tuesday, June 20, 2017-6:37 PM

शिकागो: अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमरीकी छात्र आेटो वार्मबेयर की मौत के बाद उत्तर कोरिया के क्रूर शासन को आड़े हाथ लिया है। वार्मबेयर को उत्तर कोरिया में करीब 18 महीने की हिरासत के बाद गत सप्ताह कोमा में रिहा किया गया था।   


उत्तर कोरिया की क्रूरता आई सामने
22 वर्षीय छात्र को गत मंगलवार को चिकित्सकीय आपात स्थिति को देखते हुए उत्तर कोरिया से निकालकर अमरीका लाया गया था। वह ब्रेन डैमेज से पीड़ित था। उसने आेहियो स्थित अपने गृह नगर सिनसिनाटी में 6 दिन बाद दम तोड़ दिया। परिवार ने कल वार्मबेयर की मौत की घोषणा करते हुए एक बयान जारी करते हुए कहा,  उत्तर कोरिया के हाथों हमारे बेटे को जिस तरह से यातना दी गई उससे स्पष्ट था कि इसके अलावा अन्य कोई परिणाम सामने आने वाला नहीं था।वार्मबेयर उत्तर कोरिया की यात्रा पर था जब उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। पिछले साल मार्च में उसे उत्तर कोरिया के एक होटल से राजनीतिक पोस्टर चुराने के आरोप में 15 साल जेल की सजा सुनाई गई थी। अमरीकी अधिकारियों ने उसकी सजा को उसके कथित अपराध से अधिक बताया था।   


ट्रंप ने की उत्तर कोरिया की निंदा
ट्रंप ने छात्र की मौत की खबर के बाद उत्तर कोरिया की निंदा की। उन्होंने व्हाइट हाऊस में एक कार्यक्रम में कहा,यह एक क्रूर शासन है। बुरी चीजें हुई लेकिन हम कम से कम उसे उसके घर पर उसके अभिभावकों तक ले आए। उन्होंने बिना कोई स्पष्टीकरण देते हुए कहा, हम इसे संभाल लेंगे। ट्रंप ने अलग से जारी एक लिखित जवाब में कहा, आेटो की इस हालत ने एेसी त्रासदी रोकने की मेरे प्रशासन की प्रतिबद्धता को और मजबूत किया है जिससे कि बेगुनाह लोगों को एेसे शासन में फंसने से रोका जा सके जो कानून के शासन या मूलभूत मानवीय शिष्टता का पालन नहीं करता। 


विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन ने कहा, हम आेटो वार्मबेयर की अनुचित कैद के लिए उत्तर कोरिया को जिम्मेदार ठहराते हैं और उन तीन अन्य अमरीकियों की रिहायी की मांग करते हैं जिन्हें अवैध रूप से हिरासत में रखा गया है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You