US ने पाक से आतंकवाद पर और सख्त होने को कहा, भारत को बताया करीबी सहयोगी

  • US ने पाक से आतंकवाद पर और सख्त होने को कहा, भारत को बताया करीबी सहयोगी
You Are HereAmerica
Saturday, November 19, 2016-11:18 AM

वॉशिंगटन:व्हाइट हाउस ने कहा है कि पाकिस्तान अपनी धरती से संचालित आतंकी समूहों के खिलाफ और प्रभावी कदम ‘‘उठा सकता है और उसे कदम उठाना चाहिए’’क्योंकि किसी भी देश को दूसरे देशों में आतंकी हमले करने के लिए अपने क्षेत्र का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देनी चाहिए। 


आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए पाक
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किरबी ने बताया कि आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान और अमरीका के बीच लगातार बातचीत होती रहती है। इसके अलावा अन्य मुद्दोंं पर भी दोनों देशों में लगातार बातचीत होती है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को लेकर अमरीका ने हमेशा ही अपनी चिंता जाहिर की है और इसके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की भी अपील पाकिस्तान से की है।अमरीकी राष्ट्रपति बराक आेबामा हमेशा इस बात पर जोर देते हैं कि पाकिस्तान को अपनी धरती से संचालित आतंकी समूहों के खिलाफ और प्रभावी कदम उठाना चाहिए’’।


अमरीका से पाक को आतंकी देश घोषित करने की मांग
‘‘वी द पीपल’’ नाम से एक ऑनलाइन अर्जी पर प्रतिक्रिया में उन्होंने कहा,‘‘राष्ट्रपति ने साफ तौर पर कहा है कि किसी भी देश को अपने क्षेत्र का आतंकियों द्वारा दूसरे देश में हमले करने के लिए इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं देनी चाहिए।’’ इस अर्जी पर 6,65,769 लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। इस अर्जी में आेबामा प्रशासन से पाकिस्तान को आतंकवाद का प्रयोजक देश घाषित करने की मांग की गई है।अमरीकी प्रतिनिधिसभा में भी इस आशय का बिल पेश किया गया है। 


हालांकि भारत के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भारत हमेशा से ही अमरीका का निकटतम सहयोगी रहा है।आेबामा प्रशासन के दौरान दोनों देशों के संबंधों में काफी सुधार हुआ है।जॉन किर्बी ने कहा, ‘‘हमारे भारत के साथ आज जिस तरह के संबंध हैं, हम उनका महत्व समझते हैं और उनका बहुत सम्मान करते हैं। हमने इन संबंधों में सुधार के लिए और इन्हें मजबूत बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है।’’
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You