PAK पी.एम ने की इमरान खान के प्रदर्शन अभियान की आलोचना

  • PAK पी.एम ने की इमरान खान के प्रदर्शन अभियान की आलोचना
You Are HerePakistan
Sunday, October 30, 2016-10:38 AM

लाहौर: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अपने प्रतिद्वंदी इमरान खान के प्रदर्शन अभियान से विचलित नजर नहीं आए। दरअसल, खान के इस अभियान का मकसद भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर उन्हें इस्तीफा देने के लिए मजबूर करना है।


शरीफ ने कहा कि वह निर्वासित होने या जेल जाने से नहीं डरते हैं और उनकी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। पंजाब प्रांत के कसूर जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के अध्यक्ष खान कभी जेल नहीं गए हैं। शरीफ ने कहा, ‘हम जेल गए हैं और निर्वासन में भी रहे हैं। हम जेल जाने या निर्वासित होने से नहीं डरते।’ उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि न सिर्फ उनकी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी बल्कि 2018 के चुनाव में फिर से पांच साल के लिए लौटेगी भी। खान की पार्टी का जिक्र करते हुए शरीफ ने कहा कि आने वाले दिनों में उनका राजनीतिक करियर खत्म हो जाएगा।


इस बीच पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के 600 से अधिक कार्यकर्ताओं को पंजाब प्रांत के विभिन्न हिस्सों में हिरासत में लिए जाने के बीच पार्टी प्रमुख इमरान खान ने अपने कार्यकर्ताओं से गिरफ्तारी से बचने और नवाज शरीफ सरकार से आखिरी जोर आजमाइश के लिए दो नवंबर को इस्लामाबाद पहुंचने को कहा है।क्रिकेटर से नेता बने खान ने पार्टी समर्थकों को समूहों में सफर करने और रैली स्थल पर पहुंचने के लिए मुख्य मार्ग की बजाय छिपे रास्तों का इस्तेमाल करने की सलाह दी।पार्टी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच इस्लामाबाद और रावलपिंडी में झड़पों के एक दिन बाद पंजाब पुलिस ने पेशावर-इस्लामाबाद मोटरवे और अटक ब्रिज को कंटेनर से बंद कर दिया है। इसके पीछे यह मकसद है कि पार्टी कार्यकर्ताओं को दो नवंबर को राजधानी पहुंचने से रोका जा सके जब खान और उनके समर्थकों के देश के बाकी हिस्सों से पहुंचने की योजना है। गौरतलब है कि खान की पार्टी ने साल 2014 में इस्लामाबाद में 4 महीने लंबा धरना दिया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You