अजीब है इस बच्ची की कहानी, 5 साल की उम्र में ही आने लगे पीरियड्स

You Are HereInternational
Thursday, October 12, 2017-12:12 PM

कैनबराः ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली एमिली डोवर की अजीबोगरीब कहानी सुनकर आपके पैरों तले से जमीन खिसक जाएगी। ऑस्ट्रेलिया के रहने वाली टैम डोवर ने अपनी पांच साल की बच्ची एमिली डोवर के साथ हो रही प्रॉब्लम शेयर की है। दरअसल एमिली को पांच साल की उम्र में ही पीरियड्स आने शुरू हो गए। एमिली जब दो साल की थी, तभी उसके ब्रेस्ट बड़ी लड़कियों जैसे विकसित हो गए थे। चार साल की उम्र अाते-आते एमिली के पीरियड्स शुरू हो गए थे लेकिन अब उसमें मेनोपॉज के लक्षण दिख रहे हैं। जब एमिली का जन्म हुआ था तो वह नॉर्मल हुई थी। लेकिन जन्म के दो हफ्ते बाद उसके वजन में एक अलग तरीके से बढ़ौतरी होनी शुरू हो गई। चार महीने की होने पर इसका वजन एक साल तक की बच्ची का लगने लगा। 
PunjabKesari
क्या कहते हैं डॉक्टर
जब एमिली को डॉक्टर्स के पास लेकर जाया गया तो पता चला कि एमिली को एडिसन नाम की बीमारी है। इस बीमारी में बॉडी के हॉर्मोंस उम्र की तुलना में तेजी से चेंज होने लगते हैं। इसमें बॉडी के हॉर्मोंस प्रेग्नेंट महिला जैसे हो जाते हैं। यह एड्रेनल ग्रंथियों की बीमारी होती है।
PunjabKesari
हर हफ्ते होती है कीमोथेरिपी
एडिसन बीमारी के साथ एमिली को कॉनजेनिटल एड्रेनल, हायपरप्लासिया, सेंट्रल प्रेकोशियस प्यूबर्टी, ऑटिसम स्पेक्ट्रम डिसॉडर, सेंसरी प्रोसेसिंग डिसॉडर और एनसाइटी डिसॉडर भी है। इन बीमारियों के बाद एमिली को अब हफ्ते में एक बार कीमोथेरिपी करनी पड़ती है। डॉक्टरों ने बताया कि एमिली को इस कीमोथेरिपी के बाद वही सब झेलना पड़ेगा जो मेनोपॉज के दौरान एक 50 साल की महिला को झेलना पड़ता है। एक रिसर्च के मुताबिक, यदि मीनोपोज (रजोनिवृत्त) 40 वर्ष की उम्र से पहले होता है तो महिलाओं में कैल्शियम और विटामिन डी की खुराक के बाद भी हड्डियों के टूटने का खतरा ज्यादा रहता है।

PunjabKesari

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You