जापान की हाईस्पीड बुलेट ट्रेन पर PM मोदी ने आबे संग की सवारी(Pics)

You Are HereInternational News
Saturday, November 12, 2016-1:07 PM

नई दिल्ली:जापान के 3 दिवसीय दौरे के आखिरी दिन पी.एम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को टोक्यो से कोबे जाने के लिए प्रसिद्ध शिंकनसेन बुलेट ट्रेन में सवारी की। उनके साथ शिंजो आबे भी मौजूद थे।


तेजरफ्तार बुलेट ट्रेन में पी.एम ने की सवारी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जापानी समकक्ष शिंजो आबे के साथ जापान की प्रसिद्ध तेजरफ्तार शिंकनसेन बुलेट ट्रेन में आज यात्रा की। इस प्रणाली को भारत में भी लाए जाने की योजना है। मोदी और आबे ने तोक्यो से कोबे तक इस ट्रेन में सफर किया। इस ट्रेन की गति 240 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 320 किलोमीटर प्रति घंटे है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी तस्वीरें ट्वीट की हैं जिनमें वह ट्रेन में बैठकर आबे के साथ गहन वार्ता कर रहे हैं।उन्होंने ट्विटर पर लिखा,‘‘प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ कोबे जा रहा हूं। हम शिंकनसेन बुलेट ट्रेन में सवार हैं।’’


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप का ट्वीट 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया,‘‘अनूठी ट्रेन यात्रा पर एक अनूठी मित्रता।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री शिंजो आबे शिंकनसेन बुलेट ट्रेन से कोबे जा रहे हैं।’’ मुंबई से अहमदाबाद के बीच उच्च स्तरीय ट्रेन गलियारे का निर्माण 2018 में शुरू होगा और यह रेल सेवा 2023 में आरंभ होगी। इसमें जापानी प्रणाली इस्तेमाल होगी।आबे ने कल यहां प्रधानमंत्री मोदी के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि परियोजना की डिजाइनिंग का काम इस साल के अंत में शुरू होगा।उन्होंने कहा कि यह महत्वाकांक्षी परियोजना दोनों देशों के ‘‘विशेष संबंधों में नए आयाम को दर्शाती है’’। उन्होंने उम्मीद जताई कि त्वरित गति की ट्रेन के नेटवर्क से भारत में आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।उच्च गति की रेल प्रणाली ‘शिंकनसेन’ को जापान में 1964 में लाया गया था। इससे पहले मोदी जब ट्रेन में सवार होने के लिए तोक्यो स्टेशन पहुंचे थे, तब स्वरूप ने कहा था, ‘‘भारत जापान के संबंधों को त्वरित गति प्रदान करते हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री शिंजो आबे शिंकनसेन में सवार होने के लिए तोक्यो स्टेशन पहुंचे।’’


जापान का NSG के लिए समर्थन 
जापान ने भारत की NSG में पूर्ण सदस्यता के लिए पूर्ण समर्थन का ऐलान किया है।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जापान दौरे से भारत के लिए एक बड़ी कामयाबी मिली है।भारत और जापान के बीच ऐतिहासिक परमाणु समझौता हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री के शिंजो अबे की मौजूदगी में इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।दोनों देशो के बीच परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण इस्तेमाल पर सहमति बनी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You