ये सीरियल किलर लड़कियों का करता था एेसा हाल, देखें तस्वीरें

You Are HereInternational News
Thursday, November 24, 2016-1:02 PM

रूस:आज शक्तिशाली देशों में से एक माने जानें वाला रूस भी करीब 20 साल पहले एक खतरनाक सीरियल किलर की दहशत से कांप उठा था।दरअसल रूस के खतरनाक सीरियल किलर्स में से एक अलेक्सेंडर कोमिन बेसहारा लोगों को अपना निशाना बनाता था। लोगों को काम देने के बहाने वो उन्हें अपने घर ले जाकर यातनाएं और बेइंतहां तकलीफें देता था।

अलेक्सेंडर के खौफनाक इरादों में उसका साथ अलेक्सेंडर मिखेयेव देता था।दोनों ने ये सोच रखा था कि गुलाम बनाए गए लोगों से वो सिलाई का काम करवाएंगे और उनके सिले कपड़े बेचकर दोनों अमीर बन जाएंगे।गुलामों को रखने के लिए दोनों ने लगातार 4 साल तक खुदाई कर एक बंकर बनाया था।यहां पहुंचने के लिए एलीवेटर भी बनाया गया था।बंकर तक आने के लिए बनाई गई सीढ़ियों में बिजली के तार फिक्स किए गए थे,ताकि कोई भागने की कोशिश ना करे।अलेक्सेंडर अपने शिकार के लिए ज्यादातर लड़कियों को चुनता और उन्हें बहला-फुसलाकर अपने घर के पास बनाए गए बंकर में ले जाता था।लड़कियों को जंजीरों से बांधकर घंटों भूखा रख उनसे काम करवाता था।इतना ही नहीं उन्हें जानवरों की तरह कोड़ों से पीटता था।अगर कोई दिया हुआ काम नहीं कर पाता था,तो अलेक्सेंडर उसकी जान ही ले लेता था।अलेक्सेंडर अपने गुलाम के माथे पर स्लेव शब्द टैटू करवा देता था।


अलेक्सेंडर को अगर लगता था कि कोई गुलाम उसके काम नहीं तो वो अपने गुलामों को एंटीफ्रीज के जरिए मारता था।अलेक्सेंडर अपने गुलामों की डेड बॉडी बंकर के पास ही दफना देता था।शायद अलेक्सेंडर के इन खौफनाक इरादों के बारे में कभी किसी को पता नहीं चल पाता।अगर 21 जनवरी 1997 में उसके बंकर से 3 गुलाम भागकर पुलिस के पास पहुंचने में कामयाब न होते।पुलिस को अलेक्सेंडर के इरादों के बारे में जानकारी दी गई और घर से अलेक्सेंडर को गिरफ्तार कर लिया गया और उसे उम्रकैद की सजा दी गई थी।पुलिस को दिए गए बयान में उसने अपने गुनाहों को कबूल कर लिया था।हालांकि,इस सीरियल किलर ने 15 जून 1999 में आत्महत्या कर ली थी। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You