इस देश में बढ़ा हलाल कंडोम का चलन ..!!

  • इस देश में बढ़ा हलाल कंडोम का चलन ..!!
You Are HereInternational News
Monday, November 14, 2016-2:30 PM

केन्याः इस्लाम में गर्भनिरोधक साधनों को गलत माना गया है, लेकिन दुनिया के कई देशों में वक्त के साथ हालात बदले हैं। अब केन्या का नॉर्थईस्ट हिस्सा भी इसी दिशा में बढ़ रहा है। यह मुस्लिम बहुल इलाका है और अब तक यहां कंडोम, गर्भनिरोधक गोलियां और IUD का इस्तेमाल धर्म के खिलाफ बताया गया, लेकिन अब महिलाओं में जागरुकता आ रही है और इस मुद्दे पर वे दिलचस्पी दिखा रही हैं।

थोड़ा संकोच के साथ ही सही, पर बुर्का पहनने वाली यहां की महिलाएं अब कंडोम के बारे में बातें करने लगी हैं। उनका सबसे बड़ा सवाल यही होता है कि यह हलाल यानी इस्लामा के हिसाब से मंजूरी प्राप्त है या नहीं? इलाके से जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां गर्भनिरोधक गोलियों और कंडोम का इस्तेमाल करने की दर महज 2 फीसदी है, जबकि पूरे केन्या में औसतन 58 फीसदी लोग इनका उपयोग करते हैं।

इस क्षेत्र की महिलाओं को जागरूक बनाने वालों में डेका इब्राहिम भी शामिल हैं। वे जगह-जगह जाकर महिलाओं को इनके बारे में बताती हैं। 40 से अधिक युवतियों और हालिया शादीशुदा महिलाओं की मौजूदगी में डेका ने समझाया, इस्लाम में गर्भनिरोधक हराम नहीं हैं। यदि मां या कोख में पल रहे बच्चे की जान की बात आए तो इनका इस्तेमाल किया जा सकता है।  बकौल डेका, इस्लाम में गर्भनिरोधक साधनों के इस्तेमाल की कुछ शर्ते हैं। मसलन  महिला के लिए ऐसा करने से पहले शौहर की अनुमति जरूरी है। वे महिलाओं को याद दिलाती हैं कि इस्लाम में गर्भपात पूरी तरह प्रतिबंधित है। यही व्यवस्था पूरे केन्या में लागू है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You