‘सहर की तस्वीर’ से सीरिया के हालात पर सहमी दुनिया

You Are HereViral Stories
Tuesday, October 24, 2017-11:24 AM

नई दिल्ली: सीरिया में चल रहे गृहयुद्ध के हालात के चलते बहुत ही ‘भयावह तस्वीरें’ सामने आ रही हैं। और जब तस्वीर अब सामने आई है, उसने दुनिया को दहला कर रख दिया है। और यह तस्वीर है उस कुपोषण का शिकार और सिर्फ एक माह की बच्ची सहर की, जिसने सीरिया के पूर्वी घोटा क्षेत्र के हमोरिया इलाके में भूख के कारण दम तोड़ दिया। अस्पताल में उसकी तस्वीर एएफपी के साथ काम कर रहे एक रिपोर्टर ने खीचीं। वास्तव में सीरिया के इस इलाके के हालात बहुत ही ज्यादा खराब हैं। और यहां के हालात ने सौइयों बच्चों को भूख के कारण मौत की कगार पर ला खड़ा किया है। PunjabKesariसीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के अनुसार कुपोषण और भूख से मरने वालों बच्चों में सहर अकेली नहीं है इससे पहले भी एक बच्चा भूख के कारण यहां दमतोड़ चुका है। और सैकड़ों कुपोषण का शिकार हैं। सीरिया के इस क्षेत्र में युद्ध के चलते पिछले कई सालों से खाने की आपूर्ति नहीं है। एक महीने के इस बच्चे का नाम है सहर, ये रोने की कोशिश तो करती थी लेकिन इतना कमजोर थी कि इसके रोने की आवाज नहीं आती थी। इसके शरीर की हड्डियों को गिना जा सकता था। अगर इसके शरीर के वजन की बात करें तो यह महज दो किलो था। सहर के माता-पिता 34 साल के हैं और उसकी मां में इतनी ताकत नहीं है कि वो बच्ची को दूध पिला सके, तो पिता के पास पैसे नहीं जो इसके लिए दूध का इंतजाम कर सकें। सहर की रविवार सुबह को अस्पताल में मौत हो गई।  भूख के चलते सहर की मौत हाल ही में घोटा में हुई दूसरी घटना है। 
PunjabKesariमानवाधिकारों की सीरियाई पर्यवेक्षक संस्था के अनुसार पिछले शनिवार को ही भूख व कुपोषण के कारण एक और बच्चे की मौत हो गई थी। बता दें कि मई के महाने में विरोधियों के समर्थकों के बीच हुई बातचीत के तहत पूर्वी घोटा चार क्षेत्रों में से एक युद्ध की तीव्रता कम किए जाने वाला क्षेत्र है। लेकिन इसके बावूजद यहां खाने की आपूर्ति बमुश्किल ही हो पाती है। चिकित्सीय अधिकारियों के अनुसार इस इलाके में सौइयों बच्चे अति कुपोषण के शिकार हैं। पर्यवेक्षक संस्था के अनुसार यहां के निवासी बहुत ही ज्यादा खाद्य पदार्थों की कमी के संकट से जूझ रहे हैं। 


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You