हम ट्रंप को खुले मन से स्वीकार करते हैं और नेतृत्व का मौका देते हैं: हिलेरी क्लिंटन

  • हम ट्रंप को खुले मन से स्वीकार करते हैं और नेतृत्व का मौका देते हैं: हिलेरी क्लिंटन
You Are HereTop News
Thursday, November 10, 2016-12:51 AM

न्यूयार्क : हिलेरी क्लिंटन ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में नम्रतापूर्वक अपनी हार स्वीकार की और कहा कि उन्हें आशा है कि डोनाल्ड ट्रंप सभी अमेरिकियों के लिए सफल राष्ट्रपति बनेंगे। उन्होंने कहा कि ‘‘गइराई से विभाजित’’ राष्ट्र उन्हें ‘‘खुले मन से स्वीकारता है और नेतृत्व का मौका देता है।’’

हिलेरी ने कांटे की टक्कर वाले चुनाव में हार के बाद बड़ी संख्या मंे मौजूद समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘यह वह नतीजा नहीं है जो हम चाहते थे या जिसके लिए हमने कड़ी मेहनत की थी। मुझे अफसोस है कि हम अपने मूल्यों और अपने देश के लिए रखने वाले दृष्टिकोण के लिए यह चुनाव नहीं जीत पाए।’’ उनके समर्थकों ने खड़े होकर तालियां बजाकर हिलेरी, उनके पति बिल क्लिंटन, बेटी चेल्सी और दामाद मार्क का स्वागत किया।

हिलेरी अपने भाषण में कई बार भावुक हो गईं और उन्होंने बमुश्किल अपने आंसुओं को रोका। उनके प्रचार कर्मियों और समर्थकों को एक दूसरे से गले लगते और हाथ मिलाते देखा गया। कुछ सदस्यांे को अपने आंसू पोंछते भी देखा गया। हिलेरी (69) ने चुनाव नहीं जीत पाने की माफी मांगी और कहा कि वह लंबे वक्त तक चुनाव नहीं जीत पाने का दर्द महसूस करेंगी। समर्थकों की तालियों के बीच हिलेरी ने कहा कि वह ट्रंप (70) को बधाई देती हैं और देश के लिए उनके साथ काम करने का प्रस्ताव देती हैं।

हिलेरी कहा, ‘‘ मैंने डोनाल्ड ट्रंप को बधाई दी और हमारे देश की तरफ से उनके साथ काम करने का प्रस्ताव दिया। मुझे आशा है कि वह सभी अमेरिकियांे के लिए सफल राष्ट्रपति बनंेगे।’’ हिलेरी ने कहा कि राष्ट्र को चुनावों के नतीजों को स्वीकार करना चाहिए और ट्रंप के नेतृत्व में आगे बढना चाहिए। हिलेरी के भाषण के बाद जाते वक्त उनके समर्थकों ने खड़े होकर तालियां बजाईं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You