ट्रंप की नजर उत्तर कोरिया के खजाने पर !

  • ट्रंप की नजर उत्तर कोरिया के खजाने पर !
You Are HereInternational
Sunday, August 13, 2017-6:45 PM

वॉशिंगटनः नॉर्थ कोरिया और अमरीका के बीच बढ़ते तनाव कारण दुनिया एक और युद्ध के बादल मंडराने लगे हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नॉर्थ कोरिया और उसके तानाशाह किंग किम जोंग उन को  रुख में बदलाव न बदलने पर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। सवाल उठता है कि आखिर अमरीका को नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से दिक्कत क्या है?

सीरिया से असद को हटाने की कोशिश और ईराक से सद्दाम का तख्तापलट  के बाद अमरीका अब नॉर्थ कोरिया से जंग की तैयारी कर रहा है। सवाल ये   है कि  आखिर अमेरिका को क्यों  दूसरे देशों की जनता की फिक्र सताती है? हालांकि बहुत से ऐसे देश हैं जहां लोग अभी भी लोकतंत्र के लिए तरस रहे हैं और उन देशों से अमरीका की  दोस्ती भी है। जमीनी स्तर पर तो यही लगता है कि  अमरीका मसीहा है, मगर लोग इल्जाम लगाते हैं कि अमरीका ने जंग जमीन के ऊपर सत्ता बदलने के लिए नहीं, बल्कि जमीन के नीचे छिपे खजाने के लिए लड़ी ? हालांकि ये तमाम आरोप ही हैं मगर ये भी सच है कि ईराक में पेट्रोल, सीरिया में गैस और नॉर्थ कोरिया में खनिज पदार्थ ऐसा खजाना है जिसपर अमरीका की नजर रहती है।

ईराक के लिए लिए पैट्रोल, सीरिया के लिए गैस और नॉर्थ कोरिया के लिए खनिज पदार्थ उनकी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। अगर उनसे ये ही छीन लिया तो उन्हें सड़क पर आते देर नहीं लगेगी और जो  इस खजाने को हासिल कर ले उसे रईस होने में देर नहीं लगेगी। सीरिया और ईराक से अलग अमरीका ने फिलहाल अपनी सारी ताकत नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की नकेल कसने में लगा रखी है। अमरीका आरोप लगाता है कि किम जोंग उन हथियारों के लिए अपनी सनक और अय्याशी के लिए वहां की जनता को भूखा मार रहा है हालांकि नॉर्थ कोरिया उसे सिर्फ और सिर्फ अमेरिकी प्रोपेगैंडा बताता है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You