यौन गुलाम रहीं यजीदी महिलाओं को पुरस्कार

  • यौन गुलाम रहीं यजीदी महिलाओं को पुरस्कार
You Are HereInternational
Friday, October 28, 2016-4:33 PM

ब्रसेल्स: इराकी मूल की यजीदी महिलाओं को गुरुवार को यूरोप के शीर्ष मानवाधिकार सखारोव पुरस्कार से सम्मानित किया गया।दरअसल इन दोनों महिलाओं नादिया मुराद (23) और लामिया अजी बशर (18) को आई.एस ने यौन गुलाम बनाने के लिए 2014 में अगवा कर लिया था।


लेकिन दोनों आई.एस के चंगुल से बचकर निकल आई थी।मुक्त होने के बाद से वे मानवाधिकारों के लिए काम कर रही हैं। बता दें कि इन दोनों को अपहरण के बाद आई.एस आतंकी मोसुल ले गए जहां उन पर अत्याचार किए गए और उनका बलात्कार किया गया।आई.एस की कैद से भागी नादिया जैसे-तैसे जर्मनी पहुंची। बाद में उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को अपनी आपबीती सुनाई।लामिया की दास्तां भी कम दर्दनाक नहीं है। एक विस्फोट में उसकी एक आंख चली गई थी।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You