Subscribe Now!

नवरात्रों में दिन के अनुसार दें कन्याअों को भेंट, मिलेगा गरीबी से छुटकारा

  • नवरात्रों में दिन के अनुसार दें कन्याअों को भेंट, मिलेगा गरीबी से छुटकारा
You Are HereJyotish
Sunday, October 02, 2016-11:59 AM

नवरात्र के नौ दिनों में माता के नौ स्वरूपों (शैल पुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूषमांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी तथा सिद्धिदात्री) की पूजा की जाती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। इन दिनों में कुछ उपाय करने से देवी की कृपा से घर की गरीबी दूर हो सकती है। छोटी कन्याअों को देवी का स्वरूप माना जाता है। नवरात्रों में कन्याअों के पूजन का विशेष महत्व है। नौ दिनों तक कन्याअों को भिन्न-भिन्न प्रकार की चीजें भेंट करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। आइए जानें किस दिन कौन सी चीज भेंट करनी चाहिए।

 

* प्रतिपदा पर कन्यों को फूल भेंट करना शुभ होता है। फूल के साथ श्रृंगार की साम्रगी जरुर दें। मां सरस्वती को प्रसन्न करने हेतु माता को सफेद फूल अर्पित करें। सुख-सुविधा की प्राप्ति के लिए लाल रंग के पुष्प अर्पित करें।

 

* दूसरे नवरात्रे में कन्याअों को फल देकर उनकी पूजा करें। सुख-सुविधा पाने हेतु कन्याअों को लाल या पीले रंग के फल दें। कन्याअों को केले या नारियल देकर माता को प्रसन्न किया जा सकता है।

 

* नवरात्रि के तीसरे अौर चौथे दिन तृतीया तिथि रहेगी। इन दिनों में कन्याअों को घर में बुलाकर खीर, हलवा या केसरिया रंग के चावल खिलाना शुभ होता है। ऐसा करने से माता रानी बहुत प्रसन्न होती है। 

 

* चतुर्थ नवरात्रे पर कन्याअों को वस्त्र भेंट करने का महत्व है। यदि पूरी ड्रेस न दे सकें तो रंग-बिरंगे रिबन भी दे सकते हैं।

 

* पंचम नवरात्रे पर कन्याअों को पांच प्रकार की श्रृंगार साम्रगी देने से सौभाग्य अौर संतान सुख की प्राप्ति होती है। कन्याअों को बिंदिया, चुड़िया, मेहंदी, बालों के लिए  क्लिप, काजल आदि चीजें दे सकते हैं। 

 

* नवरात्र की षष्ठमी पर छोटी कन्याअों को खेल अौर मनोरंजन की चीजें भेट में देनी चाहिए। कन्याअों के प्रसन्न होने से मां अति प्रसन्न होती हैं।

 

* सप्तमी नवरात्रे पर कन्याअों को शिक्षण साम्रगी देने से मां सरस्वती की कृपा होती है। कन्याअों को पेन, कॉपी, लंच बॉक्स, पेंसिल आदि चीजें दे सके हैं। 

 

* अष्टमी नवरात्रे पर मां का विशेष आशीर्वाद पाने हेतु किसी छोटी कन्या का अपने हाथों से श्रृंगार करें। इस दिन कन्या के पैरों पर चावल, फूल अौर कुमकुम लगाएं। कन्या को भोजन करवाकर पूजा में दक्षिणा जरूर दें।

 

* अंतिम नवरात्रे के दिन कन्याअों को खीर-पूरी खिलानी चाहिए। कन्या के पैरों में महावर अौर हाथों में मेहंदी लगाएं। इससे देवी मां की पूजा पूर्ण होती है। घर पर हवन कर रहे हों तो कन्या के हाथों से हवन में समिधा जरूर डलवाएं।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You