गुरु हो गए कन्या में अस्त: विश्व में होंगे चमत्कार, राशि अनुसार कैसा होगा यह प्रवेश!

You Are HereJyotish
Saturday, September 17, 2016-9:04 AM

बृहस्पति दिनांक 11.08.16 को रात 10 बजकर 24 मिनट से कन्या राशि में गोचर कर रहे हैं। वर्तमान स्थिति में गुरु कन्या राशि में उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र के चौथे चरण में गोचर कर रहे हैं तथा सूर्य के नजदीक आने से देव गुरु बृहस्पति सोमवार दिनांक 12.09.16 को रात 03 बजकर 20 मिनट पर अस्त हो गए हैं तथा देव गुरु बृहस्पति सोमवार दिनांक 10.10.16 को शाम 06 बजकर 02 मिनट तक अस्त ही रहेंगे, इसी के साथ शुक्रवार दिनांक 16.09.16 को शाम 06 बजकर 47 मिनट पर सूर्य कन्या राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य व बृहस्पति के कन्या राशि में मिलन से विश्व को अचंभित करने वाले परिणाम देखने पड़ सकते हैं। आइए जानते हैं द्वादश राशियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष: बाहरी संबंधों में सफलता मिलेगी। शत्रुओं का दमन होगा। विदेश यात्रा में विलंब होगा परंतु लघु यात्राओं से लाभ भी रहेगा।


वृष: प्रेम में असफलता मिलेगी। बड़े भाईयों से लाभ होने के आसार हैं। आर्थिक लाभ के योग बन रहे हैं। स्वास्थ प्रभावित होगा।


मिथुन: व्यापार में दिक्कतें आएंगी। राजनीति में सफलता के आसार हैं। नौकरी में समस्या के योग हैं। पिता से लाभ के योग हैं।


कर्क: भाग्य में कमी आएगी। धर्म-कर्म में अरुचि रहेगी। पारिवारिक तनाव रहेगा। आस्था घटेगी। माता का स्वास्थ्य प्रभावित होगा।


सिंह: बिगड़े स्वास्थ्य में सुधार होगा। संतान को कष्ट संभव है। वाद-विवाद के योग हैं। पढ़ाई में ध्यान दें। धन हानि के योग हैं।


कन्या: बनते हुए विवाह के योग में विलंब होगा। दाम्पत्य जीवन कष्टकारक रहेगा। दैनिक व्यवसाय में असफलता मिल सकती है।


तुला: न्याय कार्यों में सफलता मिलेगी। ननिहाल पक्ष से लाभ के योग हैं। शत्रु पक्ष से राहत मिलेगी। शुगर के रोगी सावधान रहें।


वृश्चिक: संतान लाभ के योग हैं। शिक्षा क्षेत्र में सफलता मिलेगी। प्रतियोगिताओं से लाभ होगा। मनोरंजन से जुड़े कार्य सफल होंगे।


धनु: पारिवारिक स्थिति में सुधार होगा। जनता से संबंधित कार्यों में सफलता मिलेगी। सम्पति में लाभ रहेगा। माता सहयोग करेंगी।


मकर: पराक्रम में कमी आएगी। भाई असहयोग करेंगे। सांझेदारी में सफलता मिलेगी। शत्रु परास्त होंगे। भाग्य कमजोर पड़ेगा।


कुंभ: धन वृद्धि होगी। कुटुंम्ब में लाभ होगा। वाणी के प्रभाव में वृद्धि आएगी परंतु कड़वा बोलने से बचें। परिवारिक शुभ कार्य होंगे।


मीन: प्रभाव में वृद्धि आएगी। महत्वाकांक्षाएं पूरी होंगी। धर्म-कर्म में रूझान बढ़ेगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। दांपत्य में कष्ट रहेगा।

आचार्य कमल नंदलाल

ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You