गरीबी और मुसीबत के सैलाब से बचें, दिवाली पर न करें ये काम

  • गरीबी और मुसीबत के सैलाब से बचें, दिवाली पर न करें ये काम
You Are HereJyotish
Tuesday, October 25, 2016-8:41 AM

दीप पर्व आने को कुछ दिन शेष हैं। मां लक्ष्मी को अपने घर-परिवार में आमंत्रित करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाता है। कुछ ऐसे काम हैं जो दिवाली पर किए जाएं तो गरीबी और मुसीबत का सैलाब आ जाता है...


* काम भावना से दूर रहें, ब्रह्मचार्य का पालन करें।


* दीवाली खुशियों की रोशनी का पर्व है। विशेष सावधानियां बरतते हुए किसी भी प्रकार की द्वेष भावना एवं सामाजिक बुराइयों से दूर रहने का संकल्प करें।


*  जुआ खेलना सामाजिक बुराई मानी जाती है और सरकार ने भी इस पर पाबंदी लगा रखी है, लेकिन ज्योति पर्व दीपावली पर जुआ खेलने की परंपरा सदियों से चली आ रही है । इस त्योहार पर लोग जुआ शगुन के रूप में खेलते हैं।  मान्यताओं के अनुसार दीपावली पर जुआ खेलने को बुराई नहीं समझा जाता है । धारणा के अनुसार जो व्यक्ति दीपावली के दिन जुआ खेलेगा, उसके परिवार में पूरे वर्ष सुख-समृद्धि कायम रहेगी। देवी लक्ष्मी कभी भी ऐसे लोगों के घर में नहीं आती।

 
*  न स्वयं धूम्रपान करें तथा न किसी को करने दें ताकि किसी प्रकार की आगजनी की घटना को रोका जा सके।


*  कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने में अपने कर्तव्य का निर्वहन निष्ठापूर्वक करें। 


* आतिशबाजी फूंककर धन एवं पर्यावरण की बर्बादी से बचते हुए हमें अपने घर-गली को दीपों की रोशनी से जगमग करके प्रदूषण रहित दीवाली मनाकर सहयोग देना चाहिए। 


* पारिवारिक सदस्यों को एक समान तोहफे भेंट करें, किसी भी तरह का भेद न करें।


* ताजे फूलों से घर का मुख्य द्वार और मंदिर सजाएं। 


* अपने से बड़ों के चरण स्पर्श करें और आशीर्वाद लें।


* वाद-विवाद से दूर रहें।


* किसी भी तरह का कोई नशा न करें। 


* स्नान करने के उपरांत पूजा की तैयारी आरंभ करें।


* दीप पर्व पर रात को सोना नहीं चाहिए, सारी रात जागकर लक्ष्मी मंत्रों का जाप करना चाहिए। 


* दीवाली वाले दिन घर में कोई भी याचक आए तो उसे खाली हाथ न लौटाएं, अपनी क्षमता के अनुसार कुछ न कुछ अवश्य दें।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You