ज्वालामुखी विस्फोट मामले पर टिकी भारत की नजर, भारतीयों को लेकर सुषमा चिंतित

  • ज्वालामुखी विस्फोट मामले पर टिकी भारत की नजर, भारतीयों को लेकर सुषमा चिंतित
You Are HereLatest News
Wednesday, November 29, 2017-12:23 PM

करांगासेमः भारत बाली के माउंट अगुंग में ज्वालामुखी विस्फोट की घटना के बाद स्थिति पर नजर बनाए हुए है। भारतीयों को लेकर चिंतित विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को ट्वीट किया कि उन्होंने जकार्ता स्थित भारतीय राजदूत प्रदीप रावत से बात की है। बाली हवाईअड्डे पर एक सुविधा केंद्र की स्थापना की गई है और वहां फंसे भारतीय नागरिकों को सहायता दी जा रही है। मैं लगातार अपने दूतावास के संपर्क में हूं।' इंडोनेशियाई प्रशासन ने मंगलवार को बाली के मुख्य हवाईअड्डे को बुधवार तक के लिए बंद कर दिया।

इंडोनेशियाई अधिकारियों ने बताया कि अगुंग लगातार भड़क रहा है और उससे निकलने वाला लावा और भाप 2000 से 3400 मीटर उंचाई तक पहुंच रहा है। आसपास के इलाके में भूकंपीय गतिविधि भी दर्ज की गई है। बाली हवाई अड्डे ने सोमवार को 445 घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें रद्द कर दी थी, जिससे वहां 59,000 यात्री फंस गए। राख की वजह से कम से कम 22 शहर प्रभावित हुए हैं और लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी गई है।

वहीं विशेषज्ञों ने ज्वालामुखी को लेकर चेतावनी का स्तर उच्चतम कर दिया है और कहा है कि यह किसी भी पल फट सकता है। हवाई यातायात एजैंसी एयरनेव के अधिकारी विस्नू दार्जोनो ने ज्वालामुखी से संबंधित जानकारी प्रदान करने वाले विशेषज्ञों के वैश्विक नेटवर्क का जिक्र करते हुए कहा, 'ज्वालामुखी की राख संबंधी चेतावनी से पता चलता है कि हवाई मार्ग में ज्वालामुखी की राख छाई हुई है जो उड़ान भरने के लिए खतरनाक है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You