Subscribe Now!

जेलों में बंद HIV+ कैदी, पंजाब में 1600 तो चंडीगढ़ में...

  • जेलों में बंद HIV+ कैदी, पंजाब में 1600 तो चंडीगढ़ में...
You Are HereNational
Thursday, January 18, 2018-5:58 PM

चंडीगढ़ :  पंजाब की जेलों में इस समय 1600 कैदी ऐसे हैं जो एच.आई.वी. पीड़ित हैं। यह खुलासा इन जेलों में नेशनल एड्स कंट्रोल आर्गेनाइजेशन (नाको) द्वारा कैदियों की करवाई गई स्क्रीनिंग से हुआ है। जिसके बाद नाको ने बड़ा फैसला लेते हुए देश भर की जेलों में कैदियों की स्क्रीनिंग करवाने का फैसला लिया है। 


पंजाब के अलावा चंडीगढ़ की जेल में 25 कैदी एचआईवी से पीड़ित हैं। यही नहीं नार्थ ईस्ट के आठ राज्य सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, असम व मेघालय की जेलों में काफी संख्या में कैदी व बंदी ऐसे हैं, जो एचआईवी से ग्रस्त है। इसके गंभीर परिणामों को देखते हुए अब नाको ने फैसला लिया है कि वे देश भर की जेलों में बंद कैदियों की स्क्रीनिंग करवाएगा। इसके लिए संबंधित राज्यों सरकारों की एड्स कंट्रोल सोसायटी की मदद ली जाएगी। यह काम दो चरणों में पूरा किया जाएगा।

 

स्क्रीनिंग के बाद होगा विशेष इलाज :
पंजाब और चंडीगढ़ में स्क्रीनिंग का काम चल रहा है, जबकि हरियाणा में भी अब इस अभियान का आगाज कर दिया गया है। एचआईवी ग्रस्त लोगों की पहचान के बाद उन्हें विशेष इलाज, सुविधा और जागरूकता प्रदान की जाएगी। इसके लिए हरियाणा स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी और इमैनुएल हॉस्पिटल एसोसिएशन की मदद ली जाएगी।  


पंजाब के 50 हज़ार कैदियों की स्क्रीनिंग :  
पंजाब और चंडीगढ़ में पहले से चल रहे इस अभियान के दौरान अभी तक जो परिणाम सामने आया है, वह चिंताजनक है। इस अभियान के तहत अभी तक पंजाब की 9 जेलों में करीबन 50 हजार बंदियों व कैदियों की स्क्रीनिंग हो चुकी है, जिसमें से 1600 बंदियों को एचआईवी पाया गया। उधर, चंडीगढ़ जेल में 800 बंदियों की स्क्रीनिंग में 25 एचआईवी ग्रस्त पाए गए।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You