Subscribe Now!

गणतंत्र दिवस पर भारत अपनी 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' का करेगा प्रदर्शन: रक्षा मंत्री

  • गणतंत्र दिवस पर भारत अपनी 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' का करेगा प्रदर्शन: रक्षा मंत्री
You Are HereNational
Monday, January 22, 2018-5:39 PM

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज कहा कि भारत की एक्ट ईस्ट नीति वास्तविकता में ‘‘आकार ले रही है’’ और गणतंत्र दिवस समारोह में दस आसियान नेताओं की मौजूदगी से निश्चित रूप से यह नीति दिखेगी। उन्होंने दिल्ली छावनी स्थित एनसीसी के रिपब्लिक डे कैंप की अपनी यात्रा के दौरान मीडिया के एक सवाल के जवाब में यह कहा। 

निर्मला ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह में आसियान के दस नेताओं की मौजूदगी के साथ भारत निश्चित रूप से एक्ट ईस्ट नीति का प्रदर्शन कर रहा है और हमें खुशी है कि समारोह उन सबकी मौजूदगी के साथ होगा। दस आसियान देशों- थाईलैंड, वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर, म्यामां, कंबोडिया, लाओस और ब्रुनेई के नेता इस बार 26 जनवरी को राजपथ पर होने वाली परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करेंगे। 

इससे पहले निर्मला ने कैंप में आयोजित एक समारोह में रक्षा मंत्री पदक और प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। रक्षा मंत्री पदक उच्च स्तर की असाधारण सेवा एवं साहस के लिए हर साल सबसे योग्य कैडेट को प्रदान किया जाता है। उन्होंने कहा कि एनसीसी कैडेट ने राष्ट्रीय आपदाओं के दौरान और स्वच्छ भारत जैसे सरकारी कार्यक्रमों को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभायी है। उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि सरकार देश में एनसीसी का दायरा बढ़ाना चाहती है। इस बार के गणतंत्र दिवस शिविर में 29 राज्यों एवं सात केंद्र शासित क्षेत्रों के करीब 2,070 कैडेट हिस्सा ले रहे हैं जिनमें 703 लड़कियां हैं। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You