Subscribe Now!

विदुर नीति: ये 4 कारण उड़ा देते हैं नींद

  • विदुर नीति: ये 4 कारण उड़ा देते हैं नींद
You Are HereDharm
Wednesday, January 17, 2018-2:24 PM

विदुर एक दासी के पुत्र थे, लेकिन उन्होंने अपनी नीतियों के बल पर इतिहास में श्रेष्ठ स्थान हासिल किया है। महामंत्री विदुर ने विदुर नीति नामक एक ग्रंथ की रचना भी की है। इस ग्रंथ में दी गई नीतियां आज भी हमारे लिए बहुत उपयोगी हैं। विदुर को यमराज का अवतार माना जाता है। आज हम जिस नीति के बारे में बताने जा रहें है उसमें विदुर जी ने 4 एेसी चार बातों का जिक्र किया है जिस से स्त्री हो या पुरुष दोनों की नींद उड़ जाती है।


एक समय की बात है कि महाराज धृतराष्ट्र बहुत व्याकुल थे औऱ उन्हें नींद नहीं आ रही थी तो उन्होंने महामंत्री विदुर को अपने कक्ष में बुलवाया। विदुर जी के आने पर महाराज ने बताते हुए कहा कि मैं बहुत व्याकुल हूं। जब से संजय पांडवों के यहां से लौटकर आया है, तब से मेरा मन बहुत अशांत है। संजय कल सभा में क्या कहेगा ये सोच-सोच कर मन व्यथित हो रहा है। यह सब सुनने के बाद विदुर ने महाराज से एक महत्वपूर्ण नीति की बात कही। विदुर जी ने कहा कि चाहे स्त्री हो या पुरुष, जब इनके जीवन में ये चार बातें होती हैं। तब उनका मन अशांत हो जाता है और नींद उड़ जाती है।

 

पहली बात
विदुर ने महाराज धृतराष्ट्र से कहा यदि किसी व्यक्ति के मन में कामभाव जाग जाए तो उसे नींद नहीं आती। जब तक कामी व्यक्ति की काम भावना तृप्त नहीं हो जाती है, तब तक वह सो नहीं पाता। कामभावना व्यक्ति के मन को अशांत करती है और कामी व्यक्ति किसी भी कार्य को ठीक से नहीं कर पाता। यह भावना स्त्री और पुरुष दोनों की नींद उड़ा देती है।


 
दूसरी बात
जब किसी स्त्री या पुरुष की शत्रुता बहुत बलवान व्यक्ति से होती है तो उसकी नींद उड़ जाती है। निर्बल और साधनहीन व्यक्ति हर पल बलवान शत्रु से बचने के उपाय सोचता रहता है। उसे हमेशा यह भय सताता है कि कहीं बलवान शत्रु की वजह से कोई अनहोनी न हो जाए।


 
तीसरी बात
जब किसी व्यक्ति का सब कुछ छिन जाए तो उसकी रातों की नींद उड़ जाती है। ऐसा इंसान न तो चैन से जी पाता है और न ही सो पाता है। इस परिस्थिति में व्यक्ति हर पल छिनी हुई वस्तुओं को पुन: प्राप्त करने की योजनाओं में लगा रहता है। जब तक वह अपनी वस्तुएं पुन: पा नहीं लेता, तब तक उसे नींद नहीं आती है।


 
चौथी बात

यदि किसी व्यक्ति की प्रवृत्ति चोरी की है, जो चोरी करके ही अपने उदर की पूर्ति करता है, जिसे चोरी करने की आदत हो, जो दूसरों का धन चुराने की योजनाएं बनाता रहता हो, उसे नींद नहीं आती। चोर हमेशा रात में चोरी करता है और दिन में इस बात से डरता है कि कहीं उसकी चोरी पकड़ी ना जाए। इस वजह से उसकी नींद भी उड़ी रहती है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You