त्यौहार: 11 सितम्बर से 17 सितम्बर 2016 तक

  • त्यौहार: 11 सितम्बर से 17 सितम्बर 2016 तक
You Are HereLent and Festival
Sunday, September 11, 2016-9:36 AM

भारत एक ऐसा देश है जो विविधता में एकता का उदाहरण है क्योंकि यहां हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई तथा जैन आदि धर्म एक साथ निवास करते हैं। पूरी दुनिया में भारत को पारंपरिक और सांस्कृतिक उत्सव के देश के रुप में जाना जाता है। पूरे राष्ट्र में सभी धर्मों के लोगों द्वारा कुछ पर्व मनाए जाते हैं। हर एक उत्सव का अपना एक इतिहास, पौराणिक कथाएं और मनाने का विशेष महत्व है। आइए जानें इस सप्ताह के त्यौहार अौर उत्सवों के बारे में-

 

प्रस्तुत सप्ताह का प्रारंभ विक्रमी भाद्रपद प्रविष्टे 27, भाद्रपद शुक्ल तिथि नवमी, रविवार, विक्रमी सम्वत 2073 राष्ट्रीय शक सम्वत् 1938, दिनांक 20 (भाद्रपद) को होकर समाप्ति विक्रमी आश्विन प्रविष्टे 2, आश्विन कृष्ण तिथि प्रतिपदा शनिवार को होगी। 

 

पर्व, दिवस तथा त्यौहार: 11 सितम्बर आचार्य श्री तुलसी पट्टारोहण (जैन), 12 सितम्बर ईदुल-जुहा-बकरीद (मुस्लिम), मेला रामदेव रोणेचा (जोधपुर), 13 सितम्बर पद्मा एकादशी व्रत, वामन द्वादशी, वामन जयंती, वामनावतार जयंती, श्रवण द्वादशी, श्री भुवनेश्वरी जयंती, मेला वामन द्वादशी (अम्बाला, पटियाला, नाहन), 14 सितम्बर प्रदोष व्रत, हिन्दी दिवस, ओणम, आचार्य भिक्षु निर्वाण दिवस, (जैन), 15 सितम्बर अनंत चतुर्दशी व्रत, कदली व्रत, मेला बाबा सोढल (जालंधर), मेला छपार (मालेरकोटला), 16 सितम्बर श्री सत्य नारायण व्रत, भाद्रपद पूर्णिमा, प्रोष्ठ पदी-पूर्णिमा का श्राद्ध, विक्रमी आश्विन संक्रांति सूर्य सायं 6.35 (जालंधर टाइम) पर कन्या राशि पर प्रवेश करेगा, मेला गोइंदवाल (तरनतारन), श्री गुरु रामदास जी तथा श्री गुरु अर्जुन देव जी गुरयाई प्राप्ति दिवस, श्री गुरु अमर दास जी तथा श्री गुरु राम दास जी ज्योति जोत समाए दिवस, 17 सितम्बर आश्विन कृष्ण पक्षारंभ, पितृ पक्षारंभ, तिथि प्रतिपदा का श्राद्ध, श्री विश्वकर्मा पूजन।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You