नवरात्र में करें ये उपाय, धन, विवाह से संबंधित इच्छाएं होंगी पूर्ण

  • नवरात्र में करें ये उपाय, धन, विवाह से संबंधित इच्छाएं होंगी पूर्ण
You Are HereMantra Bhajan Arti
Friday, October 07, 2016-10:02 AM

नवरात्रों में नवदुर्गा के पूजन से प्रत्येक प्रकार की बाधाअों से मुक्ति मिलती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नवरात्रों में कुछ सरल उपाय करने से मां नवदुर्गा की कृपा से धन, नौकरी, प्रमोशन, विवाह आदि से संबंधित इच्छाएं पूर्ण हो सकती है। 

 

* नवरात्रों में किसी भी दिन सुबह स्नानादि कार्यों से निवृत होकर स्वस्थ वस्त्र पहनकर अपने सम्मुख शंख रख कर उस पर स्वस्तिक का चिन्ह बनाएं। उसके पश्चात इस मंत्र का जाप करें-

 

श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:

 

मंत्र का उच्चारण स्फटिक माला में ही करें। मंत्र का उच्चारण के साथ एक-एक चावल शंख में डालते जाएं। चावल खंड़ित नहीं होने चाहिए। यह उपाय लगातार नौ दिनों तक करें। प्रतिदिन इस प्रकार एक माला का जप करें। इन चावलों को सफेद रंग की थैली में रखें। नौ दिनों के पश्चात उस शंख को भी चावलों के साथ बांध कर तिजोरी में रखें। ऐसा करने से घर की बरकत में बढ़ौतरी होगी।

 

* शीघ्र विवाह के लिए नवरात्र में शिव-पार्वती का एक चित्रपट घर के मंदिर में रख कर उसका पूजन करें। उसके पश्चात नीचे लिखे मंत्र का 3, 5, या 10 माला जाप करें। जाप के बाद भोलेनाथ से विवाह में आ रही बाधाअों को दूर करने के लिए प्रार्थना करें। भोलेनाथ की कृपा से शीघ्र विवाह होगा।

 

ऊं शं शंकराय सकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसनाय,
पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पतिं मे देहि कुरु कुरु स्वाहा।।

 

* नवरात्र में शिवालय में जाकर भोलेनाथ अौर मां पार्वती पर जल अौर दूध अर्पित करके चंदन, फूल, धूप, दीप एवं नैवेद्य से उनका पूजन करें। उसके पश्चात मौली से उन दोनों के मध्य गठबंधन करें अौर लाल चंदन की माला से नीचे लिखे मंत्र का 108 बार जाप करें।

 

हे गौरी शंकरार्धांगी। यथा त्वं शंकर प्रिया।
तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम्।।

 

इसके पश्चात तीन महीने तक प्रतिदिन शिवालय या घर के मंदिर में मां पार्वती के सम्मुख इस मंत्र का 108 बार जाप करें। घर पर भी पंचोपचार से पूजा करनी है।
 
 

* नवरात्र में किसी भी दिन सुबह उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत होकर उत्तर दिशा की अोर मुख करके बैठ जाएं। उसके पश्चात अपने सम्मुख तेल के नौ दीपक प्रज्वलित करें। ये दीपक संध्याकाल तक प्रज्वलित रहने चाहिए। दीपक के सामने लाल रंग के चावल अर्थात चावलों को लाल रंग से रंग लें। इन चावलों की ढेरी बना लें। चावलों की ढेरी के ऊपर श्रीयंत्र रखकर उसका कुमकुम, पुष्प,धूप  अौर दीप से पूजा करें। पूजा के पश्चात एक थाली पर स्वस्तिक का चिन्ह बनाकर अपने सम्मुख रखकर उसका पूजन करें। पूजा के पश्चात श्रीयंत्र को मंदिर में स्थापित करें अौर शेष साम्रगी को नदी में प्रवाहित कर देना चाहिए। इस उपाय को करने से धन लाभ के योग बनेंगे।

 

* नवरात्रों के दैरान जो भी सोमवार आए उस दिन शिवालय जाकर शिवलिंग पर दूध, दही, घी, शहद और शक्कर अर्पित करके उसे अपने हाथों से अच्छी तरह साफ करें। उसके पश्चात शुद्ध जल अर्पित करें। पूरे मंदिर में झाडू लगाकर साफाई करें। उसके बाद भोलेनाथ का चंदन, पुष्प एवं धूप, दीप आदि से पूजन करें। रात 10 बजे के पश्चात अग्नि प्रज्वलित करके ऊं नम: शिवाय मंत्र का उच्चारण करते हुए घी से 108 आहुतियां दें। 40 दिनों तक प्रतिदिन भोलेनाथ के सामने इसी मंत्र का 5 माला जाप करने से प्रत्येक इच्छा पूर्ण होगी। 

 

* नवरात्रों में स्नानादि के पश्चात सफेद रंग के सूती आसन पर पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। इसके बाद अपने सम्मुख पीले रंग का वस्त्र बिछाकर उसके ऊपर 108 दानों वाली स्फटिक माला रखकर उस पर केसर अौर इत्र छिड़कर पूजन करें। इसके बाद धूप, दीप और अगरबत्ती दिखाकर नीचे लिखे मंत्र का 31 बार उच्चारण करें। प्रतिदिन 11 दिनों तक इस उपाय को करने से माला सिद्ध हो जाएगी। इंटरव्यू में जाते समय इस माला को धारण करके जाने से सफलता मिलेगी।

 

ऊं ह्लीं वाग्वादिनी भगवती मम कार्य सिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा।

 

* दांपत्य जीवन में अनबन रहती हो तो नवरात्र में नीचे लिखी चौपाई का उच्चारण करते समय अग्नि में घी से 108 बार आहुतियां दें। ऐसा करने से चौपाई सिद्ध हो जाएगी। प्रतिदिन सुबह उठकर इस चौपाई को 21 बार पढ़ने से लाभ होगा। हो सके तो जीवन साथी से भी चौपाई का जाप करवाएं।  

 

चौपाई
सब नर करहिं परस्पर प्रीति।
चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति।।

 


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You