नोटबंदी का फैसला ऐतिहासिक, देशभक्त ही ले सकते हैं ऐसे फैसले: शिवराज

  • नोटबंदी का फैसला ऐतिहासिक, देशभक्त ही ले सकते हैं ऐसे फैसले: शिवराज
You Are HereNational
Saturday, November 19, 2016-11:15 AM

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए नोट बंदी के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुये कहा कि असाधारण व्यक्ति, महान देशभक्त ही ऐसे फैसले ले सकता है जिसके दिल और दिमाग में देश को आगे बढ़ाने की चिंता हो। चौहान ने कल यहां एक निजी चैनल के कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि थोड़ी तकलीफ हुई है। देश के नवनिर्माण के लिये देश को आगे बढ़ाने के लिए थोड़ा कष्ट सहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि जब देश की सीमाओं की रक्षा के लिये जवान अपने प्राणों की आहुति दे देते हैं और अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देते हैं, तो थोड़ा सा कष्ट जनता भी अपने देश के लिये हंसी-खुशी सह सकती है। 

 

मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल के 11 वर्ष पूरे होने पर कहा कि मध्यप्रदेश इन 11 सालों में तेजी से आगे बढ़ रहा है और दोगुनी गति से आगे बढता जाएगा। मध्यप्रदेश हर क्षेत्र में विकास कर रहा है। पिछले सात साल से आर्थिक वृद्धि दर दो अंकों में बनी हुई है और कृषि विकास की दर पिछले चार साल से 20 प्रतिशत है।  वे अदीबा से मिलकर इतने भावविभार हो गए कि उसे गोद में उठाकर दुलार किया। अदीबा प्रदेश की पहली लाड़ली लक्ष्मी है जिसे मुख्यमंत्री ने 2006 में पहला प्रमाण पत्र प्रदान किया था। प्रदेश की 24 लाख लाड़ली लक्ष्मी में से एक अदीबा रायसेन जिले के गौहरगंज में शासकीय सरदार पटेल स्कूल में कक्षा चौथी में पढ़ रही है। 

 

अदीबा आज अपने पिता अतीक उर्रहमान और मां नाहिद के साथ उपस्थित थीं। चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश को निवेश मित्र राज्य के रूप में कभी भी प्रोत्साहित नहीं किया गया। पिछली पांच ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के दौरान मध्यप्रदेश का नाम सर्वाधिक पसंदीदा उद्योग मित्र राज्य के रूप में सामने आया है। इसके माध्यम से निवेश के लिये जो वातावरण प्रदेश में बना है उसे उद्योगपतियों और निवेशकों ने सकारात्मक रूप से पसंद किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2014 की जीआईएस से अब तक दो लाख 83 हजार करोड़ रूपए का निवेश प्रदेश में हो चुका है।  

 

उच्च शिक्षा की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर को देश के प्रथम श्रेणी के विश्वविद्यालयों में शामिल कराने के लिए प्रयास जारी हैं। निजी विश्वविद्यालय भी बड़ी संख्या में स्थापित हो रहे हैं। इस क्षेत्र में भी अभी बहुत काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रतिभाओं को अवसर चाहिए। राज्य सरकार उन्हें पूरे अवसर देगी। युवा उद्यमियों को तैयार करने के लिए मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना जैसे प्रयास किए गए हैं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You