पैसों के तीन दिन लाइन में लगा था किसान, नहीं मिले पैसे तो कर ली आत्महत्या

  • पैसों के तीन दिन लाइन में लगा था किसान, नहीं मिले पैसे तो कर ली आत्महत्या
You Are HereNational
Monday, November 14, 2016-2:18 PM

नई दिल्ली: 500 और 1000 के पुराने नोट बंद होने के बाद देश भर में लोगों को परेशानी हो रही है। वहीं नोटों को बंद किए जाने से बने हालात से परेशान होकर रायगढ़ में रविवार को रवि प्रधान (45) नामक एक किसान ने आत्महत्या कर ली। 


बेटों ने घर आने के लिए मांगे थे पैसे
बताया गया कि तीन दिन पहले रवि प्रधान को तमिलनाडु से उसके बेटे सुनील का फोन आया। जिसने अपने पिता से कहा कि वह जिस कंपनी में काम करते थे वहां का ठेकेदार सभी कर्मचारियों के पैसे लेकर भाग गया है। वे वापस घर आना चाहते हैं। लेकिन घर आने के लिए उनके पास रुपए नहीं। सुनील ने रोते हुए अपने पिता से मदद की गुहार लगाई थी और उसे रुपए लेकर तमिलनाडु बुलाया था, जिससे दोनों भाई वापस अपने घर आ सके। इसके बाद रवि प्रधान और उसकी पत्नी लगातार दो दिनों से सरिया के स्टेट बैंक में जाकर सुबह से ही लाईन में लगकर नोटों को बदलने की कोशिश कर रहे थे पर भारी भीड़ के चलते जब तक उनकी बारी आती तब तक बैंक बंद हो जाता था। इसी बात से रवि पिछले तीन चार दिनों से परेशान था। बेटों को वक्त पर पैसे न भेज पाने के दुख में आखिरकार उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 

मृतक की मानसिक स्थिति नहीं थी ठीक
किसान द्वारा पैसे बदली नहीं होने को लेकर घर में आत्महत्या कर करने के मामले में सरिया पुलिस का कहना है कि बीते कुछ माह से उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं थी। इसी वजह से उसने यह कदम उठाया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You