आज का गुडलक- कंगाली भरे जीवन से देगा मुक्ति

You Are HereNational
Wednesday, October 04, 2017-7:58 AM

आज बुधवार दी॰ 04.10.17 आश्विन शुक्ल चतुर्दशी को देवी कनक दुर्गेश्वरी का पूजन किया जाएगा। कनक का अर्थ है सुवर्ण अर्थात सोना। अतः कनक दुर्गा का संबंध सुवर्ण और समृद्धि से है। शास्त्रनुसार देवी कनक दुर्गा के आशीर्वाद से ही अर्जुन को शिव की कठोर तपस्या के फलस्वरूप पाशुपतास्त्र प्राप्त हुआ था। शास्त्रनुसार जगदंबा में दुर्गमासुर के वध हेतु कनक दुर्गेश्वरी का रूप धारा था। इसी के तहत देवी ने कीलाणु को पर्वत बनाकर स्थापित किया। इसी इंद्र-किलाद्रि पर्वत पर इंद्र ने देवी की उपासना की। इंद्र-किलाद्रि पर्वत पर ब्रह्मा ने भगवान शंकर की मल्लेलु अर्थात बेला के पुष्पों से आराधना भी की थी और यहीं मल्लेश्वर नमक शक्तिलिंग देवी कनक दुर्गेश्वरी के भैरव के रूप में स्थापित है। आदिगुरु शंकराचार्य ने भी यहीं अपना श्रीचक्र स्थापित करके कनक दुर्गेश्वरी व मल्लेश्वर महादेव का पूजन किया था। देवी कनक दुर्गेश्वरी के विधिवत उपाय व पूजन से भक्तो की सारी विपदाएं दूर होती हैं। कंगाल व्यक्ति का जीवन भी समृद्ध होता है। मुश्किल काम भी आसानी से पूरे होते हैं। 


विशेष पूजन विधि: देवी कनक दुर्गेश्वरी का विधिवत पूजन करें। गौघृत में सूखा धनिया डालकर दीपक जलाएं, गौलोचन धूप करें, सूखा धनिया चढ़ाएं। मेहंदी चढ़ाएं। सूजी के हलवे का भोग लगाएं तथा इस विशेष मंत्र का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद हलवा किसी गरीब कन्या को खिलाएं।


पूजन मुहूर्त: शाम 16:10 से शाम 17:10 तक।


पूजन मंत्र: ॐ कन्यकायै दुर्गाय नमः॥

 

आज का शुशाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त:
बुधवार वासरे अभिजीत नहीं होता है।


आज का गुलिक काल: प्रातः 10:42 से दिन 12:09 तक।


आज का यमगंड काल: प्रातः 07:46 से प्रातः 09:14 तक।


आज का अमृत काल: दिन 13:44 से शाम 15:19 तक।


आज का राहु काल: दिन 12:09 से दिन 13:37 तक। 


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल उत्तर व राहुकाल वास दक्षिण-पश्चिम में है। अतः उत्तर व दक्षिण-पश्चिम दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान
आज का गुडलक कलर:
पिस्ता।


आज का गुडलक दिशा: पूर्व।


आज का गुडलक मंत्र: ॐ कलिकालाय नमः॥


आज का गुडलक टाइम: प्रातः 09:15 से प्रातः 10:15 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: कार्य सफलता के लिए देवी दुर्गा पर मिश्री चढ़ाकर सेवन करें।


आज का एनिवर्सरी गुडलक: पारिवारिक खुशहाली हेतु कनक दुर्गेश्वरी पर चढ़ी गेहूं घर की दक्षिण दिशा में स्थापित करें।


गुडलक महागुरु का महा टोटका: समृद्धि हेतु कनक दुर्गेश्वरी पर चढ़ी सूखी साबुत लाल मिर्च पीले कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखें।


आज के गुडलक में बस इतना ही। कल गुडलक में आपसे फिर मुलाक़ात होगी और हम आपको बताएंगे कैसे देवी लक्ष्मी शरद पूर्णिमा पर करेंगी धन की बरसात।


आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You