आज का गुडलक Live: आधी रात के बाद धन से भर सकता है आपका घर

Thursday, October 05, 2017-8:09 AM

आज बुधवार गुरुवार दी॰ 05.10.17 आश्विन पूनम को शरद पूर्णिमा व कोजागर पूर्णिमा पर्व मनाया जाएगा। शास्त्रनुसार शरद की निशीथ व्यापिनी पूर्णिमा को महालक्ष्मी पूजन व एरावत हाथी पर आसीन देवराज इंद्र की पूजा करने से स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। मान्यतानुसार इस दिन देवी लक्ष्मी मध्य रात्रि के बाद हाथ में वर लेकर पृथ्वी लोक पर विचर कर भक्तों को धन-वैभव प्रदान करती हैं। कोजागर का अर्थ है कौन जाग रहा है। अतः इस रात्रि में जागरण से देवी लक्ष्मी धन वैभव प्रदान करती हैं। शास्त्रनुसार मात्र शरद पूर्णिमा का चंद्रमा ही 16 कलाओं से परिपूर्ण होता है। अतः इस पूर्णिमा की रात्रि को चंद्रमा अपनी विशेष किरणों से अमृत वर्षा करता है। अतः इस रात्रि में चांदी के बरतन में गो दुग्ध, घृत एवं अरवा चावल से बनी खीर चांदनी में रात भर रखने से वह महा औषध बन जाती है। प्रात: काल उसके सेवन से जिससे 32 प्रकार की पित्त संबंधी बीमारियों में लाभ होता है। शरद पूर्णिमा पर लक्ष्मी पूजन चंद्रोदय के बाद मध्य रात्रि में करने से स्थिर धन प्राप्त होता है।


विशेष पूजन विधि: चंद्रोदय के बाद देवी महालक्ष्मी का विधिवत पूजन करें। गौघृत में केसर मिलकर दीपक जलाएं, चंदन की धूप करें, सबूत हल्दी चढ़ाएं। पीत चंदन चढ़ाएं। पंचमेवा खीर का भोग लगाएं तथा इस विशेष मंत्र से का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद चांदनी में रख दें और सुबह उसका सेवन करें।


चंद्रोदय पूजन मुहूर्त: शाम 18:02 से रात 20:50 तक।


कोजागर पूजन मुहूर्त: रात 23:44 से रात 12:34 तक।


पूजन मंत्र: ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः॥


आज का शुशाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त:
दिन 11:45 से दिन 12:32 तक।


आज का गुलिक काल: प्रातः 09:14 से प्रातः 10:41 तक।


आज का यमगंड काल: प्रातः 06:19 से प्रातः 07:47 तक।


आज का अमृत काल: शाम 16:12 से शाम 17:45 तक।


आज का राहु काल: दिन 13:36 से शाम 15:03 तक। 


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल दक्षिण व राहुकाल वास दक्षिण में है। अतः दक्षिण दिशा की यात्रा टालें।


वर्जित मुहूर्त: पृथ्वी लोक वासनी भद्रा सूर्योदय से लेकर दिन 13:02 तक रहेगी जिसमें शुभ कार्य वर्जित हैं।


आज का गुडलक ज्ञान
आज का गुडलक कलर:
क्रीम।


आज का गुडलक दिशा: ईशान।


आज का गुडलक मंत्र: ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं महालक्ष्म्यै नमः॥


आज का गुडलक टाइम: शाम 15:12 से शाम 16:12 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: अच्छे स्वास्थ्य हेतु महालक्ष्मी पर मखाने की खीर चढ़ाकर सेवन करें।


आज का एनिवर्सरी गुडलक: पारिवारिक सुख हेतु श्री श्रीराधाकृष्ण के चित्र पर केसर चढ़ाएं।


गुडलक महागुरु का महा टोटका: स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति हेतु मध्य रात्रि में घर की पश्चिम दिशा में घी के 16 दीपक जलाएं।


आज के गुडलक में बस इतना ही। कल गुडलक में आपसे फिर मुलाक़ात होगी और हम आपको बताएंगे कार्तिक मास की शुरुआत में भगवान स्कन्द कैसे करेंगे शत्रुओं के दांत खट्टे।

 

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You