आज का गुडलक: माता के कष्ट दूर करने के लिए करें इस मुहूर्त में चंद्र पूजन

You Are HereLatest News
Monday, November 20, 2017-8:30 AM

सोमवार दि॰ 20.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल द्वितीय पर चंद्र दर्शन व पूजन किया जाना उत्तम रहेगा। द्वितीया तिथि चंद्रमा की दूसरी कला है। इस कला का अमृत कृष्ण पक्ष में स्वयं सूर्यदेव पी कर स्वयं को ऊर्जावान रखते हैं व शुक्ल पक्ष में पुनः चंद्रमा को लौटा देते हैं। शुक्ल पक्ष की द्वितीया को भगवान शंकर गौरी के समीप होते हैं, अतः शिवपूजन, रुद्रभिषेक, पार्थिव पूजन व विशेष रूप से चंद्र दर्शन व पूजन अति शुभ माना गया है। चंद्र दर्शन पर हर महीने अमावस्या के बाद जब पहली बार चंद्रमा आकाश पर दिखता है तो उसे चंद्र दर्शन कहते हैं। शास्त्रनुसार इस समय चंद्र दर्शन करना अत्यंत फलदायक होता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार चंद्रमा मन व ज्ञान का स्वामी माना जाता है। कुंडली में अशुभ चंद्रमा होने से मानसिक विकार, माता को कष्ट, धन हानि की संभावना रहती है। अतः दूज पर चंद्र दर्शन और विधिवत चंद्रदेव के पूजन से मानसिक शांति व स्थिरता, धन लाभ, माता को स्वास्थ्य लाभ व ज्ञान में वृद्धि मिलती है। साथ ही सौभाग्य व संपत्ति की प्राप्ती होती है। 


पूजन विधि: संध्या के समय चंद्र देव कादशोपचार पूजन करें। गौघृत का दीपक करें, कर्पूर जलाकर धूप करें, सफेद फूल, चंदन, चावल, व इत्र चढ़ाएं, खीर का भोग लगाएं व पंचामृत से चंद्रमा को अर्घ्य दें तथा सफेद चंदन की माला से 108 बार इस विशिष्ट मंत्र को जपें। पूजन के बाद भोग किसी स्त्री को भेंट करें।


चंद्र दर्शन मुहूर्त: शाम 17:30 से शाम 18:30 तक। 

चंद्र पूजन मुहूर्त: शाम 18:00 से शाम 19:00 तक। 

पूजन मंत्र: ॐ क्षीरपुत्राय विद्महे अमृत तत्वाय धीमहि, तन्नो चन्द्र: प्रचोदयात॥


आज का शुभाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त:
दिन 11:45 से दिन 12:27 तक। 

आज का अमृत काल: दिन 14:57 से शाम 16:45 तक।

आज का राहु काल: प्रातः 08:10 से प्रातः 09:29 तक।

आज का गुलिक काल: दिन 13:25 से दिन 14:44 तक। 

आज का यमगंड काल: प्रातः 10:47 से दिन 12:06 तक।


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल पूर्व व राहुकाल वास वायव्य में है। अतः पूर्व व वायव्य दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान
आज का गुडलक कलर:
श्वेत।

आज का गुडलक दिशा: दक्षिण-पूर्व।

आज का गुडलक मंत्र: ॐ श्राँ श्रीं श्रौं सः श्रीमते नमः॥

आज का गुडलक टाइम: दिन 12:05 से दिन 13:05 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: मानसिक विकार से मुक्ति हेतु जल में अपनी छाया देखकर चंद्र देव पर चढ़ाएं।

आज का एनिवर्सरी गुडलक: माता के स्वास्थ्य में सुधार के लिए चंद्र देव पर चढ़ी शतावरी माता को भेंट करें।

गुडलक महागुरु का महा टोटका: सौभाग्य की प्राप्ति के लिए चंद्र देव पर चढ़ा चांदी का सिक्का तिजोरी में रखें।

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

 

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You