आज का गुडलक: पौष का सूर्य कैसे दिलाएगा तरक्की

You Are HereLatest News
Monday, December 04, 2017-1:36 PM

आज सोमवार दिनांक 04.12.17 को ज्योतिषशास्त्र के पुर्णिमांत पंचांग प्रणाली के अनुसार पौष माह प्रारंभ हो गया है। विक्रम संवत व हिंदू पंचांग के अनुसार साल के दसवें महीने को पौष माह कहा जाता है। पौष मास में सूर्य की उपासना का विशेष महत्व माना जाता है। इस मास में सूर्य देव की उपासना भग नाम से की जाती है। हेमंत ऋतु के इस मास में ठंड बहुत अधिक होती है। मान्यतानुसार पौष माह में सूर्यदेव ग्यारह हजार रश्मियों के साथ तपकर सर्दी से राहत देते हैं। शास्त्रों में ऐश्वर्य, धर्म, यश, श्री, ज्ञान व वैराग्य को ही भग कहा गया है। इसी कारण पौष मास के भग स्वरूप सूर्य को परब्रह्म माना गया है। पौष मास में सूर्य को अर्घ्य देने का विशेष महत्व धर्मशास्त्रों में उल्लेखित है। आदित्य पुराण के अनुसार पौष माह में तांबे के बर्तन में शुद्ध जल, लाल चंदन व लाल रंग के फूल डालकर सूर्य को अर्घ्य देकर सूर्य मंत्र का जाप किया जाता है तथा व्रत रखकर सूर्य को तिल-चावल की खिचड़ी का भोग लगाया जाता है। पौष मास में सूर्य के विशेष व्रत, पूजन व उपाय से यश बढ़ता है, ज्ञान में वृद्धि होती है व तरक्की मिलती है।


पूजन विधि: प्रातः में माता पार्वती का दशोपचार पूजन करें। शुद्ध घी का दीप करें, चंदन से धूप करें, सफेद फूल, अक्षत व शक्कर चढ़ाएं, खीर का भोग लगाएं तथा सफेद चंदन की माला से 108 बार इस विशिष्ट मंत्र को जपें। पूजन के बाद भोग किसी स्त्री को भेंट करें।


पूजन मुहूर्त: प्रातः 07:20 से प्रातः 08:20 तक।


पूजन मंत्र: ॐ घृणि: आदित्य सूर्याय नमः॥


आज का शुभाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त: दिन 11:50 से दिन 12:31 तक। 

आज का अमृत काल: शाम 19:39 से प्रातः 21:03 तक।

आज का राहु काल: प्रातः 08:20 से प्रातः 09:37 तक।

आज का गुलिक काल: दिन 13:28 से दिन 14:45 तक। 

आज का यमगंड काल: प्रातः 10:54 से दिन 12:11 तक।


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल पूर्व व राहुकाल वास वायव्य में है। अतः पूर्व व वायव्य दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान
आज का गुडलक कलर:
कुंद।

आज का गुडलक दिशा: दक्षिण-पूर्व।

आज का गुडलक मंत्र: ॐ विष्णवे नम:॥

आज का गुडलक टाइम: शाम 18:10 से शाम 19:10 तक।

आज का बर्थडे गुडलक: ज्ञान वृद्धि हेतु सूर्यदेव पर लाल गुड़हल के 10 फूल चढ़ाएं।

आज का एनिवर्सरी गुडलक: यश वृद्धि हेतु कर्पूर से केसर जलाकर सूर्यदेव पर धूप करें।

गुडलक महागुरु का महा टोटका: तरक्की हेतु लाल चंदन व पानी भरे तांबे के लोटे से सूर्य को अर्घ्य दें। 


आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

 

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You