प्रशासन की हरी झंडी : कैदियों को नहीं जाना पड़ेगा नशा मुक्ति केंद्र, जेल के अंदर ही होगा तैयार

  • प्रशासन की हरी झंडी : कैदियों को नहीं जाना पड़ेगा नशा मुक्ति केंद्र, जेल के अंदर ही होगा तैयार
You Are HereChandigarh
Monday, November 14, 2016-9:37 AM

चंडीगढ़ (संदीप): नशे की लत से ग्रस्त कैदियों के उपचार के लिए जल्द ही बुडै़ल जेल में नशा मुक्ति केंद्र तैयार किया जाएगा। अभी तक कैदियों को उपचार के लिए बार-बार नशा मुक्ति केंद्र भेजा जाता है, जिस पर जेल प्रबंधन को काफी पैसा खर्च करना पड़ता है। वहीं ऐसे कैदियों को जेल से बाहर लेकर जाना सुरक्षा के लिहाज से भी असुरक्षित रहता है। जेल में अपराधियों में लगातार बढ़ रही नशे की लत को देखते हुए ही जेल प्रबंधन की तरफ से यहां नशा मुक्ति केंद्र तैयार किए जाने का फैसला लिया गया है। जेल प्रबंधन के इस प्रस्ताव को प्रशासन ने हरी झंडी दे दी है। अब जल्द ही नशा मुक्ति केंद्र बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

 

कैदियों को नशा मुक्त करना है उद्देश्य
कैदियों को नशे की लत से दूर करना जेल प्रबंधन का मुख्य उद्देश्य है। अपने इस उद्देश्य को पूरा करने के मकसद से ही जेल में नशा मुक्ति केंद्र बनाए जाने की योजना है, जिससे कैदियों को समय पर उपचार देकर उन्हें नशे की लत से दूर रखा जा सके। संगीन मामलों की जांच के समय प्राय: सामने आता है कि नशे की लत के आदी अपराधी ही नशे की हालत में वारदातों को अंजाम दे डालते हैं।

 

नशेड़ी कैदी करते हैं परेशान
नशे की लत के आदी आरोपी को पुलिस जब किसी मामले में गिरफ्तार करने के बाद बुडै़ल जेल भेजती है तो यहां कैदी नशे की खुराक न मिलने पर बेहद परेशान हो जाता है, जिस कारण अन्य कैदियों को परेशानी होती है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You