मरा हुआ मान चुका था परिवार, गहरी खाई से गिरने के बाद जिंदा लौटा छात्र

  • मरा हुआ मान चुका था परिवार, गहरी खाई से गिरने के बाद जिंदा लौटा छात्र
You Are HereNational
Saturday, January 13, 2018-6:53 PM

नेशनल डेस्क: 'मेहर हो खुदा की तो बिना पर के पंछी भी उडऩे लगते हैं'। यह कहावत एक छात्र के लिए एकदम सही बैठती हैै। मध्य प्रदेश के इंदौर में 20 साल के युवक को उसी के दोस्त ने खाई से नीचे फेंक दिया जिसके बाद सभी ने उसे मरा हुआ समझ लिया। लेकिन 5 दिन से गायब मृदुल अचानक जिंदा मिल गया जो किसी चमत्कार से ​कम नहीं है। PunjabKesari
जानकारी के अनुसार सागर का रहने वाला मृदुल भल्ला इंदौर में बीएससी की पढ़ाई करने आया था। रविवार को उसके ही साथ पढ़ने वाले एक छात्र ने पहले उसका अपहरण किया और फिर उसका सिर पत्थरों से कुचल दिया। जिसके बाद उसे इंदौर से दूर जंगल में ले जाकर खाई में फेंक दिया। मृदुल के परिवार वालों द्वारा गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद पुलिस ने जांच शुरु की।
PunjabKesari
पुलिस ने कॉल डिटेल व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी आकाश रत्नाकर, रोहित उर्फ पीयूष परेता और विजय परमार को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आकाश ने अपहरण व हत्या कबूल ली। उन्हीं की निशानदेही पर पुलिस 400 फीट गहरी खाई में उतरी। इस दौरान पुलिस को मृदुल की सांसें चलती मिली उसके हाथ-पैर बंधे हुए थे और मुंह पर टैप चिपका हुआ था।मृदुल के पिता के अनुसार उनके बेटे का दोस्त जोंटी एक लड़की से प्रेम करता है और उसे शक था कि मृदुल से उसका प्रेम-प्रसंग है। इसीलिए उसने यह भयानक कदम उठाया। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन लोगों ने मृदुल पर पहले पत्थर से कई वार किए, फिर उसे 400 फीट गहरी खाई में फेंक दिया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You