चंडीगढ़ पहुंचे शाह ने भाजपा कार्यकर्ताओं को दिए चुनाव जीतने के मंत्र

You Are HereChandigarh
Monday, November 21, 2016-10:04 AM

चंडीगढ़(राय) : चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का स्वागत कर अपने द्वारा करवाए जा रहे कार्यों और उपलब्धियों के बारे में बताया। इनमें स्मार्ट सिटी का दर्जा दिलवाना, मैडिकल सीटों को बढ़वाना, सरकारी नौकरियों में भर्ती की आयु सीमा बढ़वाना, ट्रिब्यून चौक पर फ्लाईओवर की मंजूरी, वरिष्ठ नागरिकों के लिए डाक्टर आपके द्वार आदि प्रमुख हैं। इस अवसर पर चंडीगढ़ की प्रभारी व राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय ने कहा कि बूथ सम्मेलन की गंभीरता इससे लगाई जा सकती है कि विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वयं बूथ स्तर के सम्मेलन में सम्मिलित होने आए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने विचारों को गढ़ते हैं और उनका क्रियान्वयन करते हैं। 

 

बूथ जीता तो चुनाव जीता के अनुरूप कार्य करना है :
राष्ट्रीय संगठन महामंत्री राम लाल ने भी बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं की भूमिका व उनके उत्तरदायित्व के बारे में विस्तार से बताया तथा चुनाव जीतने के मंत्र समझाए। उन्होंने कहा कि बूथ जीता तो चुनाव जीता के अनुरूप हमें कार्य करना है और 18 दिसम्बर तक किसी प्रकार की इधर-उधर की बातों पर ध्यान न देकर केवल अपना बूथ कैसे जीता जा सकता है इस बात की चिंता करनी है। उन्होंने निगम चुनाव के लिए ग्रीन चंडीगढ़ क्लीन चंडीगढ़ का नारा दिया। इस बूथ स्तर के सम्मेलन में राष्ट्रीय संगठन सचिव रामलाल,  राष्ट्रीय सचिव व इंचार्ज चंडीगढ़ सरोज पांडेय, सांसद किरण खेर, पार्टी की चंडीगढ़ शाखा के अध्यक्ष संजय टंडन व पूर्व सांसद सत्यपाल जैन आदि नेता उपस्थित थे।  

 

पूर्व जन प्रतिनिधि ने चंडीगढ़ को कलंकित किया : टंडन
स्वागत भाषण में चंडीगढ़ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि चंडीगढ़ शहर का नाम चंडीमंदिर के नाम से पड़ा है और इसके साथ ही यहां निकट ही माता मनसा देवी का मंदिर है जिस कारण चंडीगढ़ को देवभूमि के रूप में माना जा सकता है लेकिन दुर्भाग्यवश यहां के पूर्व जन प्रतिनिधि ने चंडीगढ़ को कलंकित किया है उनके समय में रेल घोटाला, बूथ घोटाला व भ्रष्टाचार चरम सीमा पर था जिसके ठीक विपरीत जब से देश को भाजपा का नेतृत्व मिला है विशेष तौर से नगर निगम में जहां पर पिछले 14 वर्षों से कांग्रेस का कब्जा था वहां अब मात्र 10 माह में भाजपा के मेयर ने जन कल्याण हेतु कई कार्य करवाए। 

 

पाइप द्वारा घर-घर तक गैस पहुंचाने का काम, यू.टी. एम्प्लाइज हाऊसिंग स्कीम को सिरे लगाना, सी.एन.जी. की मंजूरी, पानी के लिए 14 वर्षों से लटका प्रोजैक्ट शुरू करवाना जिससे शहर को 29 एम.जी.डी. पानी मिलेगा, पॉलिथीन वस्ते से तेल बनाना, लीज तो लीज ट्रांसफर आदि बहुत सारे कार्य करवाए गए हैं। सम्मेलन में राष्ट्रीय संगठन सचिव रामलाल, राष्ट्रीय सचिव व इंचार्ज चंडीगढ़ सरोज पांडेय, सांसद किरण खेर, पार्टी की चंडीगढ़ शाखा के अध्यक्ष संजय टंडन व पूर्व सांसद सत्यपाल जैन आदि नेता उपस्थित थे।

 

कार्यकर्ताओं ने तोड़े ट्रैफिक रूल्स :
सम्मेलन में पहुंचने के लिए कार्यकर्ताओं ने कानून व नियमों का जमकर उल्लघंन किया। अधिकतर कार्यकर्ता दुपहिया वाहनों पर बिना हैलमेट के सड़कों पर चक्कर काटते नजर आए। हर दुपहिया वाहन पर 3-3 लोग बिना हैलमेट के बैठे हुए थे।

 

सम्मेलन में नहीं पहुंचे धवन :
सम्मलेन में भाजपा के वरिष्ठ नेता हरमोहन धवन नहीं पहुंचे। चर्चा रही कि पार्टी की गुटबाजी के कारण धवन सम्मेलन में नही पहुंचे लेकिन जब धवन से इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनकी तबियत खराब होने के कारण वे सम्मलेन में शामिल नहीं हो सके। उन्होंने बताया कि शाम को चुनाव समिति की हुई बैठक में वे शामिल हुए थे। उधर निगम चुनाव की टिकट के दावेदार जरूर अपने-अपने समर्थकों सहित सम्मलेन में पहुंचे और जताने की कोशिश की कि वे अधिक से अधिक कार्यकर्ताओं को सम्मेलन में लेकर आए हैं। 

 

टिकट के दावेदार पप्पू शुक्ला, नरिंद्र चौधरी, अनिल दूबे, दिलीप, राजेश गुप्ता, हरी शंकर, वार्ड 13 से टिकट के दावेदार भूपिंद्र शर्मा, विजय राणा आदि अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी, नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगाते हुए सम्मेलन में पहुंचे। कुछ नेता अपने समर्थकों के साथ पहले सम्मेलन स्थल की बजाय सैक्टर-27 प्रैस क्लब के बाहर एकत्रित हुए उसके बाद जब अमित शाह के सम्मेलन में पहुंचने के बाद ही वे लोग सम्मेलन में नारे लगाते हुए पहुंचे। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You