कोलगेट: भाजपा ने PM को चौतरफा घेरा, मांगा इस्तीफा

  • कोलगेट: भाजपा ने PM को चौतरफा घेरा, मांगा इस्तीफा
You Are HereNational
Wednesday, October 16, 2013-7:00 PM

नई दिल्ली: भाजपा ने पूर्व कोयला सचिव पीसी पारेख की कोयला घोटाले से जुड़ी टिप्पणी पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चौतरफा घेरते हुए कोयले की कालिख के कठघरे में खड़ा कर दिया है। इस मामले को लेकर भाजपा ने फिर से प्रधानमंत्री से इस्तीफा मांगा है। भाजपा प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस अपना पाप छिपाना चाहती है। उन्होंने कहा इस मामले में अधिकारियों को बलि का बकरा बनाया जा रहा है।

उधर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने ट्वीट के जरिए कहा है कि कोयला ब्लॉक आवंटन मामले में प्रधानमंत्री के खिलाफ केस क्यों नहीं दर्ज किया गया है। भाजपा के मुताबिक पूर्व कोयला सचिव पीसी पारेख की यह टिप्पणी आश्चर्यजनक नहीं है कि प्रधानमंत्री को कोयला ब्लॉक आवंटन मामले में साजिशकर्ता के रूप में मानना चाहिए। पार्टी ने कहा कि पारेख को सार्वजनिक करना चाहिए कि उस समय कितने आवंटन हुए जब प्रधानमंत्री कोयला मंत्रालय के प्रभारी थे। भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि पारेख के लिए बोलने का समय आ गया है। उन्होंने कम बोला है, उन्हें अब साफ-साफ कहना चाहिए, सार्वजनिक तौर पर कहना चाहिए कि उस समय (जब प्रधानमंत्री कोयला मंत्रालय के प्रभारी थे) कितनी फाइलें निपटाई गईं।

भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस घोटाले को अंजाम देने की मंशा से काम कर रही थी और इसी वजह से उसने नीलामी का सुझाव स्वीकार नहीं किया। कोयला घोटाले का भांडाफोड़ करने के लिए विख्यात पारेख को घोटाले में नामजद आरोपी बना दिया गया है। उन्होंने यह बयान देकर पलटवार किया है कि आवंटनों से जुड़े सभी फैसले प्रधानमंत्री की सहमति से लिए गए थे। भाजपा ने यह आरोप भी लगाया कि कोयला मंत्रालय का प्रभार मनमोहन सिंह के पास था और इसलिए लोग अमूमन उस मंत्रालय के बारे में सवाल नहीं करते जिसकी जिम्मेदारी खुद प्रधानमंत्री संभाल रहे थे।

Edited by:Supriya Verma

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You