यूनिवर्सिटी हेलीपैड पर उतरेगा मोदी का हेलीकॉप्टर, प्रशासन ने दी अनुमति

  • यूनिवर्सिटी हेलीपैड पर उतरेगा मोदी का हेलीकॉप्टर, प्रशासन ने दी अनुमति
You Are HereNational
Thursday, October 17, 2013-1:41 PM

कानपुर: भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के दबाव और मीडिया में मामला उछलने के बाद जिला प्रशासन ने कानपुर में 19 अक्तूबर को होने वाली नरेन्द्र मोदी की पहली रैली के लिये उनके हेलीकॉप्टर को यूनिवर्सिटी के हेलीपैड पर उतरने की आज सुबह अनुमति दे दी। भाजपा नेताओं ने इससे संबंधित अनापत्ति प्रमाण पत्र गुजरात के अधिकारियों को भेज दिया है। भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी ने बताया कि आज सुबह जिला प्रशासन के अधिकारियों ने उन्हें मोदी का हेलीकॉप्टर कानपुर यूनिवर्सिटी के हैलीपैड पर उतरने देने संबंधी अनापत्ति पत्र (एनओसी) दे दिया जिसे भाजपा ने गुजरात सरकार के अधिकारियों को भेज दिया है।

उन्होंने कहा कि जिला भाजपा इकाई ने जिला प्रशासन से यूनिवर्सिटी हेलीपैड पर मोदी का हेलीकॉप्टर उतरने देने की इजाजत 11 अक्तूबर को लिखित रूप से मांगी थी, लेकिन जिला प्रशासन ने मना कर दिया। मैथानी ने कहा कि 12 अक्तूबर को जिला प्रशासन ने उनसे कहा कि वे रैली स्थल के पास हेलीपैड बनवा लें। इस पर हम तैयारी शुरू करने वाले ही थे कि 13 अक्तूबर को लोकनिर्मिाण विभाग (पीडब्लयूडी) के अधिकारी आये और रैली स्थल का जायजा लिया। उन्होंने वहां हेलीपैड बनाने की अनुमति देने से इंकार कर दिया और कहा कि यह जगह छोटी है।

भाजपा कमेटी ने 14 अक्तूबर को जिला प्रशासन से यूनिवर्सिटी हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर उतारने के लिए एक बार फिर अनुमति मांगी मैथानी ने कहा कि 15 अक्तूबर को जब भाजपा के लोग अनुमति लेने गए तो जिला प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि अभी विश्वविद्यालय से अनापत्ति पत्र नहीं आया है । कल 16 अक्तूबर को भाजपा के सभी नेता एक बार फिर जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिले तो तब तक भी विश्वविद्यालय से अनुमति और अनापत्ति पत्र नहीं आया था। जिलाअध्यक्ष मैथानी ने कहा कि कल रैली के केवल तीन दिन बाकी थे, इसलिये हमने पार्टी के बड़े नेताओं से बात की। इस बीच मीडिया में भी यह खबर आ गयी कि जिला प्रशासन मोदी के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दे रहा है। इस पर जिला प्रशासन हरकत में आया और कल शाम विश्वविद्यालय से एनओसी मंगाई गयी तथा आज सुबह जिला प्रशासन ने अनुमति प्रदान कर दी।

उन्होंने बताया कि यूनिवर्सिटी से मोदी कार से रैली स्थल बुद्धा पार्क करीब दो बजे पहुचेंगे और चार बजे तक वापस चले जायेंगे। वह लखनउ तक चार्टर्ड विमान से आयेंगे और वहां से कानपुर हेलीकॉप्टर से आयेंगे । वह हेलीकॉप्टर से ही फिर लखनउ वापस चले जायेंगे। मैथानी ने शहरवासियों से अपील की कि वे रैली स्थल पर अपने साथ किसी भी तरह का हथियार न लायें। जिन भाजपा नेताओं या कार्यकर्ताओं के पास लाइसेंसी हथियार हैं, उन्हें वे अपने साथ रैली में न लायें क्योंकि रैली स्थल पर हथियारों का प्रवेश वर्जित है। मोदी की रैली को लेकर शहर में हजारों की संख्या में बैनर, पोस्टर और होर्डिंग लगाये गये हैं। कुछ होर्डिंग डिजिटल और इलेक्ट्रानिक हैं । इसके अतिरिक्त एफएम रेडियो स्टेशन, स्थानीय निजी टीवी चैनलों पर भी व्यापक प्रचार प्रसार किया जा रहा है । रैली में ज्यादा से ज्यादा भीड़ को बुलाने के लिये सोशल मीडिया और एसएमएस भेजकर भी लोगों को रैली में आमंत्रण भेजा जा रहा है।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You