शक्ति रैली के बाद हरियाणा होगा नंबर वन : हुड्डा

  • शक्ति रैली के बाद हरियाणा होगा नंबर वन : हुड्डा
You Are HereNational
Thursday, October 17, 2013-11:49 AM

चंडीगढ़: मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने लोगों को गुमराह करने के लिए विपक्षी दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जिनके कार्यकाल में भ्रष्टाचार का जन्म हुआ, वहीं आज भ्रष्टाचार को खत्म करने की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने झूठा प्रचार करने के अलावा लोगों की भलाई के लिए कुछ नहीं किया।

वह आज यहां पार्टी कार्यकर्त्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में प्रदेश के 12 जिलों से आए लगभग 5000  कार्यकर्त्ताओं ने हिस्सा लिया। 10 नवम्बर को गोहाना में होने जा रही शक्ति रैली में कार्यकत्र्ताओं को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचकर इसे सफल बनाने का आह्वïन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा कई मामलों में नंबर वन है व शक्ति रैली के बाद हरियाणा रैली आयोजित करने के मामले भी नंबर वन हो जाएगा।

'हरियाणा शक्ति रैली' में जनहित में बड़े निर्णय लेने के संकेत देते हुए उन्होंने कहा कि इस दिन जनहित के कई अहम निर्णय लिए जाएंगे व यह रैली अब तक हुई रैलियों का रिकार्ड तोड़ेगी। उन्होंने सभी से यह आग्रह भी किया कि रैली में कार्यकर्ता गुलाबी पगड़ी, चुन्नी व पटके में पहुंचे।

हरियाणा जनहित कांग्रेस के प्रमुख कुलदीप बिश्नोई का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज वह यह प्रचार कर रहे हैं कि यदि वह सत्ता में आए तो भ्रष्टïचार को खत्म कर देंगे। उन्होंने कहा कि उनकी आदत किसी की आलोचना करने की नहीं है लेकिन सब जानते हैं कि हरियाणा में भ्रष्टïचार का जनक कौन है। पता नहीं कि आज हजकां प्रमुख कुलदीप बिश्नोई किस भ्रष्टïचार को खत्म करने की बात कर रहे हैं।

हुड्ड ने विपक्षी दलों को विकास पर खुली बहस की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि वर्ष 1999 में पूर्ववर्ती इनैलो-भाजपा सरकार के कार्यकाल में गन्ने का भाव 110 रुपए था व 6 वर्षों के कार्यकाल में केवल 7 रुपए का इजाफा हुआ, जबकि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में गन्ने का भाव 301 रुपए हैं जो देश में सर्वाधिक है।  बुढ़ापा पैंशन की राशि में आगे बढ़ौतरी करने के संकेत देते हुए उन्होंने कहा कि यदि मौका लगा तो मैं इसमें एक जोटा और लगा दूंगा।

विपक्ष द्वारा विशेष आर्थिक जोन के लिए किसानों की जमीन लेने संबंधी झूठे प्रचार पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने एक इंच सरकारी या किसानों की जमीन एस.ई.जैड. के नाम पर नहीं ली। यदि कोई ऐसा साबित कर दें तो वह इस्तीफा देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के दौरान ऐसा कोई शहर नहीं रहा, जहां निजी लाभ के लिए जमीन न कब्जाई गई हो। रैली के लिए कार्यकर्ताओं को नारा देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 'टोहाना, उकलाना, उचाना, नरवाना, सोहना, इसराना, मुलाना.... सारा हरियाणा चलो गोहाना।'


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You