अब नारायण साईं के सहयोगी से पुलिस उगलवाएगी राज!

  • अब नारायण साईं के सहयोगी से पुलिस उगलवाएगी राज!
You Are HereNational
Thursday, October 17, 2013-3:35 PM

अहमदाबाद: सूरत रेप केस के मामले में फंसे नारायण साईं के के सहयोगी मोहित भोजवानी को सूरत पुलिस जयपुर को ले गई। पुलिस मोहित से नारायण साईं के बारे में पूछताछ करेगी। नारायण साईं मामले में सूरत पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने कहा कि नारायण साईं के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी करने के लिए कोर्ट में अर्जी देंगे।

 

वहीं आज कोर्ट ने आसाराम के बेटे नारायण साईं की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई टाल दी है और अगली सुनवाई 18 अक्तूबर को सुनाई जाएगी। गौरतलब है कि नारायण साईं रेप केस में फंसने के बाद से ही फरार हैं और उन्होंने गिरफ्तारी से बचने के लिए गांधीनगर कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी।

 

गुजरात में सूरत पुलिस बलात्कार के आरोपों का सामना कर रहे  नारायण साईं के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने की योजना बना रही है। यौन शोषण के आरोप में जेल में कैद विवादास्पद आसाराम के बेटे नारायण साईं के खिलाफ भी दो बहनों ने बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई है। उसके बाद से साईं गिरफ्तारी से बचने के लिए पुलिस को लगातार चकमा दे रहा है। हालांकि उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया जा चुका है।

 

सूरत के पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने संवाददाताओं से कहा कि नारायण साईं के खिलाफ मामला अब गंभीर हो गया है क्योंकि वह लगातार पुलिस को चकमा दे रहा है। अब हम उसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट लेने की योजना बना रहे हैं। साईं ने एक स्थानीय अदालत में अग्रिम जमानत की अर्जी दे रखी है। अस्थाना ने कहा कि दोनों बहनों की ओर से कुछ हफ्ते पहले शिकायत दर्ज कराने के बाद से ही साईं फरार चल रहा है। गिरफ्तारी से बचने के लिए वह 17बार सिम बदल चुका है। पुलिस ने मध्यप्रदेश, बिहार के मधुबनी और दिल्ली स्थित उसके आश्रमों की तलाशी ली लेकिन वह चकमा देकर भाग निकला।

 

पुलिस साईं की करीबी मोनिका को भी तलाश रही है जो कथित रूप से साईं को लडकियां और साधिकाएं मुहैया कराती थी। अस्थाना ने कहा कि सूरत में दर्ज शिकायत में साईं का नाम नही है इसलिए फिलहाल उससे पूछताछ की जरूरत नहीं है। यदि भविष्य में जरूरत हुई तो पुलिस उससे पूछताछ करेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You