दिल्ली में चुनाव से पहले निजी जासूसों की भारी मांग

  • दिल्ली में चुनाव से पहले निजी जासूसों की भारी मांग
You Are HereNational
Thursday, October 17, 2013-5:15 PM

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले निजी जासूसों की व्यस्तता काफी बढ़ गयी है क्योंकि कई टिकट चाहने वालों ने अपने राजनीतिक दल के भीतर और बाहर अपने विरोधियों पर नजर रखने के लिए उनकी सेवा ले रखी है। राजनीतिक दल पहले भी चुनावों के दौरान अपने प्रतिद्वंद्वियों के विभिन्न ब्यौरे जानने के लिए निजी जासूसों की सेवा लेते रहे हैं। लेकिन इस बार टिकट चाहने वालों द्वारा व्यक्तिगत स्तर पर बड़ी संख्या में जासूसों की सेवा ली जा रही है ताकि वे पार्टी के भीतर अपने विरोधियों की गतिविधियों पर नजर रख सकें।
 
जीडीएक्स डिटेक्टिव्स प्रा.लि. के प्रबंध निदेशक महेश चन्द्र शर्मा ने बताया, ‘‘चुनावों से पहले निजी जासूसी एजेंसियों की सेवा लेना अब एक स्थापित चलन बन गया है। लेकिन अपने प्रतिद्वंद्वियों को टिकट मिलने की गुंजाइश और अन्य ब्यौरों को हासिल करने के लिए व्यक्तिगत स्तर पर उनकी सेवा लेना एक हालिया चलन है। ’’

उद्योग सू़त्रों ने बताया कि दिल्ली में करीब 150 जासूसी एजेंसियां हैं जिनमें से 13 की राजनीतिक जासूसी के मामले में विशेषज्ञता मानी जाती है। उन्होंने कहा, ‘‘इन सभी 13 एजेंसियों के पास पूरा काम आ चुका है और उन्होंने अब अधिक ग्राहक लेने से मना कर दिया है।’’ शर्मा ने कहा कि लगभग सभी राजनीतिक दल शहर में निजी जासूसों की सेवा ले रहे हैं। विभिन्न राजनीतिक नेता व्यक्तिगत स्तर पर इनकी सेवा यह पता लगाने के लिए ले रहे हैं कि जो लाबी उन्हें समर्थन दे रही है क्या वह उनके प्रतिद्वंद्वियों को भी समर्थन दे रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You